बंगाल में बीजेपी की मुश्किलें बढ़ा रही है शिवसेना,पढ़िए पूरा मामला

  • बंगाल में लगातार बीजेपी की मुश्किलें बढ़ा रही है शिवसेना अब लगाया पोस्टर

कोलकाता. भले ही महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना की ट्यूनिंग काफी अच्छी है लेकिन पश्चिम बंगाल में शिवसेना ने पार्टी की मुश्किलें बढ़ानी शुरू कर दी हैं.

शनिवार को पार्टी की ओर से सॉल्ट लेक के सीजीओ कॉम्पलेक्स स्थित सीबीआई और ईडी के पूर्वी क्षेत्रीय मुख्यालय के बाहर पोस्टर लगाए गए हैं. इसमें जांच एजेंसी की कार्यशैली पर सवाल खड़ा किया गया है और पूछा गया है कि चिटफंड और स्टिंग ऑपरेशन मामले में जिन लोगों ने तृणमूल छोड़कर बीजेपी की सदस्यता ले ली है

उनके खिलाफ जांच एजेंसी चुप क्यों है? शिवसेना की उत्तर कोलकाता नॉर्थ सबअर्बन इकाई की ओर से ये पोस्टर लगाया गया है.जांच एजेंसी के मुख्यालय के ठीक बाहर लगे इस पोस्टर को लेकर पुलिस ने चुप्पी साध रखी है.

हालांकि इस बारे में प्रतिक्रिया के लिए जब सीबीआई और ईडी के अधिकारियों से संपर्क किया गया तो किसी ने भी आधिकारिक तौर पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. शिवसेना की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष अशोक सरकार ने बताया कि पश्चिम बंगाल में चिटफंड मामले में कई लोग शामिल रहे हैं.

उसमें से मुकुल रॉय और शोभन चटर्जी जैसे लोग सबसे भ्रष्ट नेताओं की सूची में थे लेकिन जब से इन लोगों ने बीजेपी की सदस्यता ली है उसके बाद से इनके खिलाफ किसी तरह की कोई कार्यवाही नहीं हुई. इससे जांच एजेंसी की मंशा पर सवाल खड़े होते हैं. इसलिए ये पोस्टर लगाए गए हैं ताकि एजेंसी निष्पक्ष कार्रवाई कर सके.

अशोक सरकार पहले बीजेपी में ही थे लेकिन बाद में दिलीप घोष को अध्यक्ष बनाए जाने पर उन्होंने आपत्ति दर्ज कराई थी और पार्टी छोड़ दी थी.उन्होंने घोष की डिग्री पर भी सवाल खड़ा किया था लेकिन हाईकोर्ट से उन्हें फटकार लगी थी. अब वो शिवसेना में हैं और बीजेपी पार्टी के खिलाफ रह रह कर हमला करते रहते हैं.

लोकसभा चुनाव में भी उन्होंने दिलीप घोष के खिलाफ मेदनीपुर लोकसभा सीट से ताल ठोकी थी लेकिन हार गए थे.‌

हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश

Leave a Reply

%d bloggers like this: