शशि थरूर ने ईरान में फंसे 26 भारतीयों को लाने के लिए विदेश मंत्रालय को लिखा

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली, 29 जून (हि.स.). वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण और लॉकडाउन की परिस्थिति में विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने की मुहिम की तहत भारत सरकार ने ‘वंदे भारत’ मिशन चलाया है.

इसके तहत अब तक तीन चरणों में विभिन्न देशों से लोगों को वापस लाया गया है. इस बीच कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने सोमवार को विदेश मंत्रालय को पत्र लिखकर ईरान में फंसे 26 भारतीय को सकुशल वापस लाने की मांग की है.

वरिष्ठ कांग्रेस नेता शशि थरूर और सीपीआई के नेता बिनॉय विश्वम ने विदेश मंत्रालय को पत्र लिखकर कहा है कि केरल और तमिलनाडु के 26 लोग करीब दो महीने से ईरान में फंसे हुए हैं. उनकी सुरक्षित वापसी के लिए सरकार और मंत्रालय को त्वरित कदम उठाने चाहिए.

अपने पत्र में दोनों नेताओं ने विदेश मंत्री एस. जयशंकर से भारतीय वाणिज्य दूतावास को उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने का निर्देश देने का अनुरोध किया है, जब तक कि उन्हें निकाला नहीं जा सकता.

उन्होंने यह भी लिखा है कि ‘वंदे भारत’ मिशन के हिस्से के रूप में एक जहाज ईरान से नागरिकों को वापस ले आया है लेकिन उस सूची में केरल-तमिलनाडु के लोगों का नाम शामिल नहीं है. इसलिए जरूरी है कि सरकार उन 26 लोगों की सुरक्षा को लेकर भी जल्द निर्णय ले.

उल्लेखनीय है कि भारत सरकार विदेशों में फंसे अपने नागिरकों को वापस लाने को लेकर लगातार कोशिशें कर रही है. इस क्रम में सरकार ने छह मई से ‘वंदे भारत’ मिशन की शुरुआत की है ताकि सभी भारतीयों की सुरक्षित स्वदेश वापसी सुनिश्चित की जा सके.

इस मिशन के तहत तीन चरण का सफल संचालन हो चुका है और अब तीन जुलाई से 15 जुलाई तक चौथे चरण चलेगा, जिसमें 17 देशों से भारतीय नागरिकों की स्वदेश वापसी सुनिश्चित की जाएगी।

हिन्दुस्थान समाचार/आकाश/सुनीत