SBI के ATM से पैसे निकालने के लिए पिन और कार्ड के अलावा चाहिए OTP, पढ़िए पूरी खबर

17
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

मुम्बई, 17 सितम्बर (हि.स.). स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ग्राहकों से धोखाधड़ी को रोकने के लिए एटीएम से पैसों की निकासी को लेकर आगामी 18 सितम्बर से नियमों में बड़ा बदलाव करने जा रहा है. बैंक की ओर से गुरुवार को इस बारे में जानकारी दी गई कि अब एसबीआई का कोई भी ग्राहक बिना ओटीपी के एटीएम से पैसों की निकासी नहीं कर सकेगा. बैंक की ओर से यह कदम ग्राहकों के साथ होने वाली धोखाधड़ी को रोकने के लिए उठाया जा रहा है.

क्या होगा नया नियम?
एटीएम से पैसों की निकासी के लिए 18 सितम्बर से नियमों में बदलाव किए जाने के बाद कोई भी एसबीआई ग्राहक जब अपने साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर ले जाएगा, तभी पैसा निकाल सकेगा. एसबीआई ने वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) आधारित एटीएम से निकासी सुविधा को चौबीसों घंटे लागू करने का फैसला किया है. यह सुविधा देश भर के सभी एसबीआई एटीएम पर लागू होगी. इससे पहले बैंक ने 10 हजार रुपये से ज्यादा की निकासी पर ओटीपी आधारित नकदी निकासी को रात 8 बजे से सुबह 8 बजे तक लागू किया था. यह नियम 1 जनवरी से लागू किया गया था. अब इस सुविधा का विस्तार किया जा रहा है.

नकदी निकासी के लिए करना होगा ये काम
अब डेबिट कार्ड से 10 हजार रुपये या ज्यादा राशि की निकासी के लिए एसबीआई के डेबिट कार्डधारकों को हर बार अपने पिन के साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा गया ओटीपी डालना होगा. बैंक की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि 24×7 ओटीपी आधारित नकदी निकासी की सुविधा को पेश करने के साथ एसबीआई ने एटीएम नकदी लेनदेन में अपने सुरक्षा के स्तर को और मजबूत किया है. बैंक के मुताबिक, इस सुविधा को पूरा दिन लागू करने से एसबीआई डेबिट कार्डधारक धोखाधड़ी, अप्रमाणित निकासी, कार्ड स्किमिंग, कार्ड क्लोनिंग आदि का शिकार होने से बचेंगे.

कैसे निकलेगा ओटीपी से पैसा
बैंक की इस सुविधा के जरिए एसबीआई एटीएम से नकदी निकासी की प्रक्रिया मौजूदा प्रक्रिया से बहुत ज्यादा अलग नहीं होगी. ओटीपी आधारित निकासी सुविधा एसबीआई कार्ड से अन्य बैंक के एटीएम से नकदी निकासी पर लागू नहीं होगी. ओटीपी आधारित प्रक्रिया के तहत जब कार्डधारक एसबीआई एटीएम में निकाली जाने वाली राशि डालेगा, तो एटीएम स्क्रीन पर ओटीपी डालने का विकल्प सामने आ जाएगा. रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर बैंक की ओर से भेजे गए ओटीपी डालने के बाद पैसे की निकासी हो जाएगी.

उल्लेखनीय है कि देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई की पूरे भारत में करीब 22 हजार शाखाएं हैं और एटीएम/सीडीएम नेटवर्क का आंकड़ा 58,500 से ज्यादा है. एसबीआई के करीब 6.6 करोड़ ग्राहक इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं. 1.5 करोड़ ग्राहक मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं. 30 सितम्बर 2019 तक एसबीआई का डिपॉजिट बेस 30 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का था.

हिन्दुस्थान समाचार/गोविन्द/सुनीत