आज से शुरू हुआ सावन… मंदिरों में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़…

भगवान शिव जी की आराधना करने का महीना सावन आज से शुरू हो चुका है. सावन भगवान शिव का प्रिय महीना है.

सावन के शुरू होते ही खासतौर से शिव मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी है. सावन में मंदिरों में पूजा करने वालों हर आम-खास इंसान लाइनों में लगा रहा.

वहीं आज सुबह शिव मंदिरों में भगवान शिव को जलाभिषेक करने को लेकर खास इंतजाम किए गए हैं. मंदिरों में होने वाली भीड़ को लेकर सुरक्षा के भी खास इंतजाम किए गए हैं.

ऐसा माना जाता है कि जो भी भक्त या श्रद्धालु सावन के महीने में शिवलिंग पर जल चढ़ाता है, उसी हर मनोकामना पूरी होती है.

गौरतलब है कि इस साल सावन का महीना बुधवार से शुरु हो रहा है. इस बार सावन 15 अगस्त तक रहेगा. इस बार सावन का महीना पूरे 30 दिनों का रहेगा.

इस बार होंगे 4 सोमवार

इस बार सावन में 4 सोमवार होंगे जोकि पहला सोमवार 22 जुलाई को होगा. जबकि दूसरा सोमवार 29 जुलाई, वहीं तीसरा 5 अगस्त के दिन और चौथा 12 अगस्त को पड़ेगा. इस बार इस महीने में कई शुभ संयोग बनेंगे जिसमें मनुष्य की सभी मनोकामनाएं पूरी होंगी.

इस महीने से व्रत और त्योहारों की भी शुरुआत हो जाती है. सावन का महीना शिव की अराधना के लिए सबसे उपयुक्त माना जाता है.

इस दिन भगवान शिव की पूजा अर्चना की जाती है. भगवान शिव के अलावा ये महीना माता पार्वती की पूजा के लिए उपयुक्त माना जाता है.

ऐसा कहा जाता है कि जो भक्त इस महीने में माता पार्वती और भगवान शिव की पूजा करते हैं उन्हें भोले बाबा की असीम कृपा मिलती है. सावन का पहला सोमवार 22 जुलाई को होगा.

17 जुलाई से सावन की शुरुआत के साथ ही कांवड़ में गंगा जल भरने और भगवान शिव पर उसे अर्पित करने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है लेकिन सोमवार और शिवरात्रि के दिन इसका महत्व बहुत बढ़ जाता है.

शुभ मुहूर्त की बात करें तो 18 जुलाई, 2019 के दिन गुरुवार को द्वितीया तिथि को प्रात: सूर्य उदय से सूर्यास्त तक कांवड़ में जल भरने का समय है.

ऐसा करने से शिव होंगे खुश- सोमवार व्रत के दौरान भगवान शिव की पूजा में बेल के पत्ते और धतुरा का इस्तेमाल जरूर करें. मान्यता है कि शिव को ये बहुत पसंद है. इसके अलावा उन्हें गंगा जल अर्पित करें. इस दिन उपवास रखने की मान्यता है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: