महिलाओं को सरकार का तोहफा, जन औषधि केंद्रों पर बस 1 रुपये में मिलेगा सैनिटरी नैपकिन…..

नई दिल्ली. सरकार ने महिलाओं (Womens) के स्वास्थ्य और साफ-सफाई को बढ़ावा देने के लिए बड़ा कदम उठाया है. महिलाओं को सैनेटरी पैड (Sanitary napkin) बहुत ही कम कीमत में मिलेंगे.

सरकार ने अपने जन औषधि केंद्रों पर बिकने वाले सैनिटरी नैपकिन की कीमत घटाकर एक रुपये प्रति पैड करने का ऐलान किया है. इस समय इसकी कीमत ढाई रुपये है. सरकार का ये कदम महिला स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए उठाया गया है.

रसायन और उर्वरक राज्य मंत्री मनसुख मंडाविया ( Mansukh Mandavia) ने कहा कि ‘सुविधा’ नाम से ये बायोडिग्रेडेबल नेपकिन 27 अगस्त से सरकार द्वारा नामित केंद्रों पर रियायती मूल्य पर उपलब्‍ध होगी.

अब सरकारी (Government) जन औषधि केंद्रों से वह सेनेटरी नेपकिन सिर्फ एक रुपये में एक पीस की दर से खरीदी जा सकेगी, जो अभी तक कम से कम रु.2.50 में मिलती थी.

मांडविया ने कहा कि चार पैड (Pads) के पैक की कीमत फिलहाल 10 रुपये रखी गई है. मंगलवार से इसका दाम चार रुपये होगा. उन्होंने कहा, हम कल (मंगलवार) से ओक्सो-बायोडिग्रेडेबल सैनिटरी नैपकिन एक रुपये में पेश कर रहे हैं. सुविधा ब्रांड नाम से ये नैपकिन देशभर के 5,500 जन औपधि केंद्रों में उपलब्ध होगा.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कीमत में 60 फीसद की कटौती के साथ नरेंद्र मोदी (PM Modi) सरकार ने बीजेपी की ओर से आम चुनाव 2019 में अपने घोषणा पत्र में किए गए वादे को पूरा किया है.

मनसुख मंडाविया ने कहा, “पिछले एक साल के दौरान, इन स्टोरों से लगभग 2.2 करोड़ सेनेटरी नैपकिन बेचे गए हैं. कीमतों में कमी के साथ, हम उम्मीद करते हैं कि बिक्री में दो गुना से अधिक की वृद्धि हम गुणवत्ता, सामर्थ्य और पहुंच पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं.”

सैनिटरी नैपकिन का औसत बाजार मूल्य 6-8 रुपये के बीच हो, तो इससे भारत की महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए एक बड़ा बढ़ावा मिलेगा.

सब्सिडी पर खर्च को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि यह बिक्री पर निर्भर करेगा. उन्होंने कहा कि कीमतों में कमी से हम बिक्री में दोगुना उछाल की उम्मीद है. हम गुणवत्ता, किफायत मूल्य और पहुंच पर ध्यान दे रहे हैं.

Leave a Reply

%d bloggers like this: