Sadhvi Pragya
Sadhvi Pragya

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर अपने बयानों को लेकर हमेशा से सुर्खियों में बनी रहती हैं. अब वो नाथू राम गोडसे को लेकर दिए गए अपने विवादित बयान को लेकर चर्चा में आ गई हैं.

दरअसल आगर मालवा शहर में रोड शो के दौरान एक पत्रकार ने साध्वी प्रज्ञा से नाथू राम गोडसे को लेकर एक सवाल पूछा तो उन्होंने कहा कि गोडसे देश भक्त थे, हैं और रहेंगे. उनको आतंकवादी कहने वाले लोग स्वयं की गिरेबान में झांक कर देखें, ऐसा बोलने वालो को इस चुनाव में जवाब दे दिया जाएगा.

इसके बाद कांग्रेस ने साध्वी पर हमला बोलते हुए कहा कि साध्वी का ये बयान आतंकी सोच वाला है.

हालांकि BJP प्रवक्ता GVL नरसिम्हा राव ने साध्वी के इस बयान से किनारा कर लिया है. उन्होंने कहा कि पार्टी साध्वी के बयान से बिल्कुल भी इत्तेफाक नहीं रखती है. पार्टी उनसे स्पष्टीकरण मांगेगी और उन्हें इस बयान के लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए.

रविवार को महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे का उल्लेख करते हुए अभिनेता से नेता बने कमल हासन ने कहा था कि ‘आजाद भारत का पहला उग्रवादी एक हिंदू था. नाम था नाथूराम गोडसे.’ उनके इस बयान से सियासत गर्मा गई है.

भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ कांग्रेस के दिग्विजय सिंह चुनाव मैदान में हैं. 12 मई को भोपाल सीट पर मतदान हो चुका है.

साध्वी प्रज्ञा सिंह कई बार अपने बयानों को लेकर विवादों में घिर चुकी हैं. इससे पहले उन्होंने मुंबई हमले में शहीद हुए हेमंत करकरे को लेकर विवादित बयान दिया था. इसके अलावा उन्होंने बाबरी मस्जिद को लेकर भी विवादित बयान दिया था.