2007 में ही क्रिकेट को अलविदा कहना चाहते थे सचिन, इस खिलाड़ी के फोन ने बदल दिया फैसला!

  • वेस्टइंडीज के दिग्गज क्रिकेटर विवियन रिचर्ड्स के एक फोन की वजह से उनको अपना फैसला बदलना पड़ा
  • इससे पहले सचिन के संन्यास को लेकर कई बार यह बात सामने आई

खेल डेस्क. सचिन तेंदुलकर ने अपने संन्यास को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है. सचिन ने बताया कि वह साल 2007 में क्रिकेट से रिटायरमेंट लेने का फैसला कर चुके थे.

मगर वेस्टइंडीज के दिग्गज क्रिकेटर विवियन रिचर्ड्स के एक फोन की वजह से उनको अपना फैसला बदलना पड़ा.

इससे पहले सचिन के संन्यास को लेकर कई बार यह बात सामने आई कि उनके बड़े भाई अजीत की सलाह के बाद तेंदुलकर ने 2007 में क्रिकेट से संन्यास नहीं लिया.

इसकी एक वजह यह भी है कि सचिन ने अपने संन्यास और इसमें दिग्गज क्रिकेटर रिचर्ड्स की भूमिका पर बात नहीं की थी.

तेंदुलकर ने बात करते हुए कहा कि जिस खेल ने उन्हें उनके जिंदगी के अच्छे दिन दिखाए उसकी चलते उन्हें बदतर दिन भी देखने पड़े.

सचिन ने माना कि साल 2007 वर्ल्ड कप उनके करियर का सबसे खराब दौर था. उस समय भारतीय क्रिकेट से जुड़ी जो चीजें हो रही थी उनमें सब कुछ सही नहीं था.

ऐसे में हमें बदलाव की जरूरत थी और मुझे लगता था कि अगर वे बदलाव नहीं हुए तो मैं क्रिकेट छोड़ देता.

मैं क्रिकेट को अलविदा कहने को लेकर 90 प्रतिशत सुनिश्चित था. लेकिन मेरे भाई ने मुझे कहा कि 2011 में विश्व कप फाइनल मुंबई में है.

क्या तुम उस खूबसूरत ट्रॉफी को अपने हाथ में थामने की कल्पना कर सकते हो. तेंडुलकर ने कहा कि इसके बाद मैं अपने फॉर्म हाउस में चला गया.

इसके बाद वहीं मेरे पास सर विवियन का फोन आया, उन्होंने कहा कि उन्हें पता है कि मेरे अंदर काफी क्रिकेट बचा है.

हम दोनों ने लगभग 45 मिनट तक बात की. जब आपका हीरो आपको फोन करता है तो यह काफी मायने रखता है.

यह मेरे लिए ऐसा लम्हा था जब मेरे लिए चीजें बदल गई और इसके बाद से मैंने काफी बेहतर प्रदर्शन किया.

Trending tags – Sachin Tendulkar | Vivian Richards | Sports News | Cricket News | Aaj ka Smachar

3 thoughts on “2007 में ही क्रिकेट को अलविदा कहना चाहते थे सचिन, इस खिलाड़ी के फोन ने बदल दिया फैसला!”

  1. Pingback: weight loss
  2. Pingback: contact us

Leave a Comment