ग्रामीण महिलाएं बनेंगी Banking Correspondent, हर महीने मिलेगी सैलरी 4000 रुपए

कोरोनावायरस की वजह से पूरे देश में लोक डाउन लागू किया गया है. भारत सरकार देश की जनता के हित में बहुत सारी कल्याणकारी योजनाएं चला रही हैं. जिससे इस महामारी के कारण उत्पन्न हुई समस्या से निपटने में राहत मिल सके. लगभग हर क्षेत्र के लिए विशेष आर्थिक पैकेज घोषित किए गए हैं. जिससे अर्थव्यवस्था को रफ्तार मिल सके. सरकार लोगों को मुफ्त राशन तथा नगद आर्थिक सहायता भी प्रदान कर रही है.

इसी क्रम में अब उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बैंकिंग सिस्टम को सुधारने तथा ग्रामीण महिलाओं को रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए एक बड़ी पहल की शुरुआत की है. इस योजना को सखी योजना नाम दिया गया है.

“क्या है सखी योजना”
उत्तर प्रदेश सरकार ने Banking Correspondent Sakhi योजना को शुरू किया है.योगी सरकार का मानना है कि छोटे से लेकर बड़े गांव तक बैंकिंग सुविधाओं को पहुंचाने की जरूरत है. इस योजना में सरकार गांव में ही रहने वाली महिला को नियुक्त करेगी. इस योजना को सखी योजना (Sakhi Yojna) का नाम दिया गया है. सखी योजना के तहत योगी सरकार ग्रामीण महिलाओं को रोजगार उपलब्ध कराएगी.

“कैसे काम करेगी Bank Sakhi”
योगी सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकिंग कॉरस्पॉडेंट सखी को तैनात करने का फैसला किया है. यह बैंकिंग सखियां लोगों को बैंकिंग से संबंधित हर जानकारी प्रदान करवाएगी. लगभग 58000 महिलाओं को इस योजना के तहत रोजगार उपलब्ध करवाया जाएगा.

यह बैंकिंग सखी लोगों के घर जाएंगी और वहां जाकर सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओं और बैंकिंग सुविधाओं के बारे में विस्तार से बताएंगी. इसके साथ ही घर बैठे ग्रामीणों को बैंक से जुड़े जरूरी काम भी निपटाने मे बैंक सखी मदद करेगी.

“बैंक सखी का मासिक वेतन”
बैंक सखी योजना के अंतर्गत प्रत्येक बैंक सखी को सरकार की तरफ से अगले 6 माह के लिए ₹4000 प्रतिमाह दिए जाएंगे.इस योजना में हर बैंकिंग कॉरस्पॉडेंट सखी को बैंकों द्वारा लेनदेन करने पर कमीशन भी दिया जाएगा. जिससे इस योजना मे चुनी गई महिलाओं को हर महीने एक निश्चित आय प्राप्त होगी.

“Banking Sakhi योजना का उद्देश्य”
इस योजना का मुख्य उद्देश्य चुनी गई ग्रामीण महिलाओ को आर्थिक रूप से सशक्त बनाना है तथा कोरोना महामारी को रोकने और सोशल डिस्टेंसिंग(Social Distancing) को बनाए रखना है. योजना लागू हो जाने से ग्रामीणों को घर बैठे ही बैंकिंग की सारी सुविधाएं उपलब्ध हो जाएंगी. जिससे उन्हें बैंक शाखा में जाकर लाइन में लगने से मुक्ति मिलेगी.

योजना शुरू होने पर बैंकों में भीड़ इकट्ठा नहीं हो पाएगी. और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी हो सकेगा. इस योजना से गांव की महिलाएं डिजिटल माल के जरिए लोगों को घर पर ही सभी बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध करवा सकेंगी. रुपए का लेन-देन करना भी यह बैंक सखी लोगों को सिखाएंगी.

“सरकार से मिलेगी डिजिटल डिवाइस”
बैंकिंग सखी योजना के अंतर्गत बैंक सखी को डिजिटल डिवाइस (Digital Device) को खरीदने के लिए सरकार की तरफ से पैसा मुहैया करवाया जाएगा. हर महिला को डिजिटल डिवाइस खरीदने के लिए 5 हजार रुपए की राशि सरकार प्रदान करेगी. सखी द्वारा कराए गए डिजिटल लेनदेन पर उसको अच्छा खासा कमीशन भी दिया जाएगा.

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा चलाई गई इस योजना से कोरोना वायरस महामारी से लड़ाई में मदद मिलेगी साथ ही महिला सशक्तिकरण के कार्य को भी मजबूती मिलेगी. साथ ही सभी ग्रामीणों को घर बैठे ही सारी बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध हो जाएंगी. इस योजना से बैंक कर्मचारियों पर अनावश्यक भार भी कम हो जाएगा.

हिंदुस्थान/समाचार कर्मवीर सिंह तोमर

Leave a Reply

%d bloggers like this: