नियोजित शिक्षकों पर लाठीचार्ज को लेकर विधानसभा में हंगामा, कार्यवाही स्थगित

पटना, 19 जुलाई. बिहार की राजधानी पटना में नियोजित शिक्षकों पर गुरुवार को लाठीचार्ज के मामले पर विधानसभा में विपक्ष ने जमकर हंगामा किया जिसके बाद सभा की कार्यवाही शुक्रवार को 5 मिनट के अंदर ही दो बजे दिन तक के लिए स्थगित हो गई.

सभा की कार्यवाही प्रारंभ होते ही नियोजित शिक्षकों पर लाठीचार्ज के मामले को पूरे विपक्ष ने अपने-अपने स्थान से उठाया.

भाकपा माले के सत्यदेव राम ने कहा कि शिक्षकों पर लाठीचार्ज किया गया जिससे एक शिक्षिका की मौत भी हो गई है तथा कई शिक्षक घायल हैं.

इसी बीच राष्ट्रीय जनता दल के सदस्य भी अपने-अपने स्थान पर खड़े होकर इस मामले को जोरदार तरीके से उठाते हुए शिक्षकों पर अत्याचार करने का सरकार पर आरोप लगाने लगे.

सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए राष्ट्रीय जनता दल और भाकपा माले के सदस्य सदन के बीचोंबीच आ गए और शिक्षकों पर अत्याचार बंद करने की मांग करने लगे.

सरकार के विरुद्ध लग रहे विपक्ष के नारों के बीच हस्तक्षेप करते हुए संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि सदन के वेल में आकर कहने पर कोई भी बात नहीं सुनी जा सकती और सरकार किसी भी विषय पर तभी उत्तर दे सकती है जब सदस्य अपने-अपने स्थान से मुद्दे को उठाएं.

उन्होंने सदस्यों से नियमावली का पालन करते हुए नियमानुसार मामले को उठाने को कहा. हंगामा कर रहे सदस्यों से विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने भी अपना-अपना स्थान ग्रहण करने का आग्रह किया.

विधानसभा अध्यक्ष के बार-बार आग्रह के बावजूद विपक्ष का जोरदार हंगामा जारी रहा और सदन को अव्यवस्थित होता देख सभा अध्यक्ष ने 5 मिनट के अंदर ही सभा की कार्यवाही भोजनावकाश दो बजे दिन तक के लिए स्थगित कर दी.

इससे पहले राष्ट्रीय जनता दल और भाकपा माले के सदस्यों ने सदन परिसर में भी इस मुद्दे को उठाते हुए सरकार के विरुद्ध नारेबाजी की और कहा कि सरकार नियोजित शिक्षकों के प्रति असंवेदनशील है. हिन्दुस्थान समाचार/रजनी

Leave a Comment

%d bloggers like this: