Upendra Kushwaha को बड़ा झटका, दोनों विधायकों ने छोड़ी पार्टी
  • उपेंद्र कुशवाहा इस बार लोकसभा चुनाव में दो सीटों से चुनाव लड़े और दोनों सीटों से हार गए
  • बिहार विधानसभा के स्पीकर ने दोनों विधायकों को जेडीयू में शामिल होने की इजाजत दे दी है

RPLS सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) को लोकसभा चुनाव के तुरंत बाद एक बड़ा झटका लगा है. लोकसभा चुनाव में पार्टी की करारी शिकस्त के बाद अब उसके दोनों विधायकों ने पार्टी छोड़कर जेडीयू (JDU) का दामन थाम लिया है.

उपेंद्र कुशवाहा इस बार लोकसभा चुनाव में दो सीटों से चुनाव लड़े और दोनों सीटों से हार गए. बिहार विधानसभा में रालोसपा के खाते में मात्र दो ही विधायक थे और दोनों ही विधायकों ने उनसे दूरी बनाने में ही भलाई समझी.

बिहार विधानसभा के स्पीकर ने दोनों विधायकों को जेडीयू में शामिल होने की इजाजत दे दी है. बिहार विधानसभा में फिलहाल आरजेडी के 80, जेडीयू के 71, रालोसपा के 2 (अब जेडीयू में), कांग्रेस के 27, लोजपा के 2, हिंदुस्तान अवाम मोर्चा (1) और अन्य के खाते में 7 विधायक हैं.

अब रालोसपा के दोनों विधायकों के विलय के बाद जेडीयू की संख्या 73 हो गई है. सीट बंटवारे को लेकर कुशवाहा ने इस बार NDA से रिश्ता तोड़ते हुए महागठबंधन के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था. इसमें वे खुद दो सीटों से चुनाव लड़े थे. और दोनों में करारी हार का सामना करना पड़ा है.

ओपिनियन पोल में हार को देखते हुए उन्होंने हथियार उठाने तक की धमकी दी थी, लेकिन परिणान आने पर शांत हो गए. परिणाम आने पर उन्होंने ट्वीट किया था कि महागठबंधन, संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) के लिए किसी पर आरोप लगाने के बजाए आत्म-मंथन करने का समय है. यह जीत किसी उम्मीदवार या राज्य सरकार में सत्तासीन नेताओं की नहीं, जनता के नब्ज को विपक्ष के नेताओं की ओर से सही से नहीं समझ पाने का नतीजा है.

Trending Tags- Loksabha Election 2019 |NDA | Upendra Kuswaha | JDU | Aaj ka Samachar

%d bloggers like this: