क्या आरके सिन्हा की नाराजगी पड़ेगी बीजेपी पर भारी….

नई दिल्ली. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह आज पटना में रोड शो करेंगे और सातवें चरण के मतदान के लिए वे पटना साहिब सीट से बीजेपी के उम्मीदवार सह केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के लिए वोट की अपील भी करेंगे. पटना साहिब में बीजेपी के रविशंकर प्रसाद और कांग्रेस के शत्रुघ्न सिन्हा के बीच कांटे की टक्कर है.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह रविशंकर प्रसाद के लिए समर्थन जुटाने के कोशिशों में लगे हैं. लेकिन दबी जुबान में कुछ कार्यकर्ता अभी राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा को टिकट नहीं दिए जाने का मलाल कर रहे हैं. दबी जुबान में कार्यकर्ता कह रहे हैं कि रविशंकर प्रसाद की जगह आरके सिन्हा को टिकट मिलना चाहिए था.

इस बीच आरके सिन्हा आज दोपहर पटना पहुंचे और कार्यकर्ताओं ने उनका फूल-मालाओं से भव्य स्वागत किया. आर के सिन्हा से जब ये पूछा गया कि क्या वे रविशंकर प्रसाद के समर्थन में होने वाले रोड शो में शामिल होंगे तो उन्होंने कहा कि मुझे रोड शो का आमंत्रण नहीं दिया गया है, इसलिए मैं रोड शो में नहीं रहूंगा.

बीजेपी सांसद आरके सिन्हा के बीजेपी की रैली में न जाने के जबाव पर कांग्रेस उम्मीदवार शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि ये बहुत गलत हुआ है. आरके सिन्हा और उनके बेटे ने यहां के लिए बहुत काम किया है.

बिहार में चुनाव प्रचार से दूर रहने के सवाल पर कहा कि मुझे बिहार में पार्टी के द्वारा नहीं बुलाया जा रहा है इसलिए मैं दूर हूं. बिहार को छोड़कर पूरे देश भर में मुझे बुलाया जा रहा है वहां सब जगह मैं जा रहा हूं. पटना एयरपोर्ट पर बीजेपी के राज्यसभा सांसद आर के सिन्हा का जोरदार स्वागत किया गया.

हालांकि, पार्टी से अपनी नाराजगी को सिरे से खारिज करते हुए bjp सांसद ने कहा कि बीजेपी हमेशा से उनकी अपनी पार्टी रही है…. वे आज भी बीजेपी में हैं और रहेंगे…साथ ही उन्होंने कहा कि एनडीए को प्रचंड बहुमत मिलने जा रहा है और नरेंद्र मोदी एक बार फिर बहुमत से देश के प्रधानमंत्री बनेंगें.

आरके सिन्हा ने पार्टी से नाराजगी की बात को नकार दिया है. सिन्हा अपने सुरक्षाकर्मी गोविंद सिंह की तेरहवीं में शामिल होने छपरा जाने के लिए पटना पहुंचे थे.

बिहार में कई मायनों में अति प्रतिष्ठित पटना साहिब लोकसभा सीट का चुनाव इस बार भी राज्य ही नहीं पूरे देश की उत्सुकता का केंद्र बना हुआ है. यहां के दोनों कद्दावर प्रत्याशी कांग्रेस शत्रुघ्न सिन्हा और बीजेपी के रविशंकर प्रसाद भले ही एक ही जाति से आते हैं.

स्थानीय मतदाताओं का एक बड़ा वर्ग इसे एक ऐसे चुनाव के रूप में ले रहे हैं, जिस पर आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद का प्रभाव एवं मोदी फैक्टर की साख कसौटी पर है. पटना साहिब सीट देश की उन चुनिंदा सीटों में एक हैं, जहां कायस्थ मतदाता निर्णायक भूमिका में हैं.

%d bloggers like this: