काजीरंगा में गैंडे की हत्या, पुलिस जुटी जांच में…

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान (Kaziranga National Park) में एक सींग वाले एक गैंडे की हत्या किए जाने का मामला प्रकाश में आया है.

राज्य में आई बाढ़ के कारण उद्यान का 90 फीसद हिस्सा पानी में डूबा हुआ है. इस वजह से जंगली जीव राष्ट्रीय राजमार्ग-37 को पारकर पड़ोसी जिले कार्बी आंग्लांग के ऊंचाई वाले पहाड़ी इलाकों की ओर पलायन कर रहे हैं.

पार्क से लगातार जीवों के पलायन करने का लाभ उठाते हुए अवैध शिकारी जीवों की हत्या करने की कोशिशों में जुटे हुए हैं.

40 लाख का है गैंडे का सिंग

अंतरराष्ट्रीय बाजार में एक गैंडे के सींग की कीमत 25 से 40 लाख रुपये की बीच आती है. ऐसे में इनकी काफी मांग बाजार में बनी रहती है. अवैध तरीके से इनकी खरीद फरोख्त का काम बिचौलिए करते रहते हैं.

मिली जानकारी के अनुसार काजीरंगा के कांचनजुरी वन शिविर इलाके में बुधवार को एक गैंडे की हत्या का मामला सामने आया है.

मामले की जांच में जुटी टीम जानकारी मिलने पर तत्काल मौके पर पहुंची. वन विभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर गैंडे के शव की जांच पड़ताल में जुटी. पुलिस को आशंका है कि इसकी मौत भी सींग के लिए ही कई गई होगी.

सूत्रों ने बताया है कि बीती रात से ही वन विभाग के सुरक्षाकर्मी इलाके में तलाशी अभियान चला रहे हैं. सुरक्षाकर्मियों का मकसद है कि गैंड़े के हत्यारे को पकड़ा जाए.

बाढ़ से जूझ रहा असम

असम राज्य में आई बाढ़ की वजह से 30 जिले प्रभावित हुए हैं. बाढ़ की वजह से इंसान ही नहीं जानवर भी काफी प्रभावित हुए हैं. काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान का 90 फीसद हिस्सा पानी में समा गया है. मंगलवार की सुबह बाढ़ के पानी से एक गैंडे का शव बरामद किया गया.

मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार की सुबह काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के गोलाघाट जिले के अगरातली वन विभाग के इलाके में आई बाढ़ के पानी में एक गैंडा को मृत अवस्था में पाया गया.

वन विभाग ने आशंका व्यक्त किया है कि एक सींग वाले गैंडे की मौत बाढ़ के पानी में डूबने की वजह से हुई होगी.

हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद

Leave a Comment

%d bloggers like this: