सिडनी यूनिवर्सटी में हुई रिसर्च, पीरियड्स के दौरान हर 5वीं युवती लेती है छुट्टी

  • यूनिवर्सटी के इस शोध में ये बात सामने आई है कि लड़कियों के अकेडमिक परफॉर्मेंस पर इसका प्रभाव पड़ता है
  • साथ ही शोध में हर पांच में से एक लड़की ने बताया कि वो इस दौरान दर्द के कारण संस्थान से छुट्टी मांगती है

नई दिल्ली: पीरिड्स यानी महावारी महिलाओं में होने वाली एक नैचुरल प्रक्रिया है. ये एक ऐसी प्रक्रिया है जिससे हर महिला होकर गुजरती है. इस दौरान वो कई तरह की परेशानियों से जूझती हैं. इससे उनके काम पर भी बेहद प्रभाव पड़ता है. अब इस पर ऑस्ट्रेलिया की सिडनी यूनिवर्सटी के शोधकर्ताओं ने एक शोध की है.

दरअसल यूनिवर्सटी के इस शोध में ये बात सामने आई है कि लड़कियों के अकेडमिक परफॉर्मेंस पर इसका प्रभाव पड़ता है. शोधकर्ताओं ने 21 हजार 573 युवतियों और 38 अध्ययनों के परिणामों का विश्लेषण किया.

इस शोध में उन्होंने पाया कि भौगोलिक और आर्थिक स्थिति से अलग वैश्विक स्तर पर दो तिहाई से ज्यादा महिलाएं पीरियड के दर्दनाक दर्द से गुजरती हैं.

साथ ही शोध में हर पांच में से एक लड़की ने बताया कि वो इस दौरान दर्द के कारण संस्थान से छुट्टी मांगती है. जबकि 41 प्रतिशत ने बताया कि पीरियड के दिन उनके काम और फोकस को नेगेटिव रुप से प्रभावित करते हैं.

पीरियड्स में हर एक महिला को पेट दर्द समेत कई अन्य समस्याएं भी होती हैं. ऐसे में पेट दर्द से बचने के लिए आप कुछ घरेलू उपाय भी कर सकते हैं.

पीरियड के दर्द से छुटकारा पाने के लिए करें ये उपाय

  • अदरक एक कारगर उपाय है. अदरक को छुटे टुकडों में काटकर पानी में मिलाकर पी सकते हैं.
  • पपीता पाचन क्रिया को मजबूत बनाने का काम करता है. पीरियड्स के दौरान इसका सेवन करने से दर्द में आराम मिलता है.
  • अगर आपको बेहद दर्द होता है तो तुलसी के पत्ते भी ऐसे में एक कारगर उपाय है. तुलसी के पत्तों को चाय में डालकर पी सकते हैं.
  • पीरियड्स के समय अक्सर महिलाओं को गैस की समस्या हो जाती है. इस वजह से भी उनके पेट में दर्द होता है. इससे बचने के लिए अजवायन का सेवन भी कारगर होगा.

Trending Tags- Hindi Samachar | Latest News in Hindi | News Today

1 thought on “सिडनी यूनिवर्सटी में हुई रिसर्च, पीरियड्स के दौरान हर 5वीं युवती लेती है छुट्टी”

Leave a Reply