India-China Clash: हिंसक झड़प में चीनी फौज के कमांडिग ऑफिसर की भी मौत!

r
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. भारत और चीन के बीच गलवान घाटी में सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में चीनी पक्ष के जिन सिपाहियों की मौत हुई है उनमें चीनी यूनिट का एक कमांडिंग अफसर भी शामिल है. एलएसी पर भारत और चीन के बीच हुई झड़प में चीनी के करीब 43 सैनिक हताहत हुए हैं. हालांकि चीन ने अभी इस बात को स्वीकारा नहीं है.

एलएसीपर तनाव जारी- इसी बीच लद्दाख में एलएसी पर भारत और चीन के बीच जारी सैन्य कमांडर स्तर की बातचीत को रोक दिया गया है. एलएसी पर लगातार तनाव बना हुआ है. भारतीय सेना ने लद्दाख के अलावा एलएसी के बाकी हिस्सों पर भी अलर्ट बढ़ा दिया है. श्रीनगर-लेह हाईवे को आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया है. लद्दाख में चीन के साथ झड़प में 20 सैनिकों की शहादत के बाद देशभर में गम और गुस्सा है.

चीनी यूनिट का कमांडिग ऑफिसर भी शामिल- सूत्रों के हवाले से जो खबर मिली है, उसके मुताबिक 15-16 जून की रात को गलवान घाटी के पास दोनों देशों के सैनिकों के बीच जो हिंसक झड़प हुई, उसमें चीन को बड़ा नुकसान हुआ है. झड़प में मारे गए चीनी सैनिकों में चीनी यूनिट का कमांडिंग ऑफिसर भी शामिल है. 

एम्बुलेंस के जरिए घायल-मृत सैनिकों को ले जा रहा चीन– इस नुकसान के अनुमान का आधार ये है कि चीन बॉर्डर पर स्ट्रेचर, एम्बुलेंस के जरिए घायल-मृत सैनिकों को ले जा रहा है. गलवान नदी के पास चीनी हेलिकॉप्टर की हलचल बढ़ी है, जिसके जरिए सैनिकों को ले जाया जा रहा है.

लाठियों और धारदार चीजों से किया गया था हमला- बता दें कि लद्दाख के गलवान घाटी में चीनी सेना के साथ हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद और कई घायल हो गए हैं. बताया जा रहा है कि इस झड़प में चीन की सेना को भी भारी नुकसान पहुंचा है और उसके भी करीब 43 सैनिक हताहत हुए हैं. लद्दाख में 14 हजार फीट ऊंची गलवान घाटी में LAC पर ये झड़प 3 घंटे चली. ये हमला पत्थरों, लाठियों और धारदार चीजों से किया गया. इसी गलवान में 1962 की जंग में 33 भारतीयों की जान गई थी.

रक्षामंत्री की तीनों सेना प्रमुखों के साथ मीटिंग- रक्षामंत्री राजनाथ सिंह बुधवार को एक बार फिर से चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ और तीनों सेना प्रमुखों के साथ मीटिंग कर रहे हैं. माना जा रहा है कि इस मीटिंग के बाद रक्षा मंत्रालय की ओर से ऑफिशियल स्टेटमेंट जारी किया जा सकता है. वहीं, सरकार आज 20 शहीदों के नाम भी जारी करने वाली है.