पुरानी कारों के दीवाने हो रहे हैं लोग,रिपोर्ट में हुआ खुलासा

नई दिल्ली.एनालिटिक्स प्लेटफॉर्म इंडियनब्लूबुक (आईबीबी) ने हाल ही में एक रिपोर्ट जारी की है.इस रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि लोगों को नई कारों की बजाया पुरानी कारें पसंद आ रही है.

आईबीबी की रिपोर्ट के अनुसार साल 2018 -19 में जहां नई कारों की बिक्री 36 लाख यूनिट रहीं है.वहीं सेकंड हैंड कार यानी पुरानी गाड़ियां 40 लाख से ज्यादा बिकी हैं.

घट रही है कारों की बिक्री-

साल 2018-19 में नई कारों की बिक्री में बढ़ोतरी तो देखने को मिली है. लेकिन ये बढ़ोतरी बहुत ही कम रही है. ये बिक्री तकरीबन 2.70 फीसदी तक रही है. जो कि बीते 4 सालों में सबसे कम हैं.
2019 के अप्रैल में यात्री वाहन की बिक्री में पिछले साल के इसी महीने की तुलना में गिरावट देखी गई और घरेलू बिक्री में 17.07 फीसदी की कमी देखी गई.

IndianBlueBook की रिपोर्ट के अनुसार, 45 फीसदी खरीदार ऐसी कार चाहते हैं जो चार से पांच साल पुरानी हो. हालांकि, 46 फीसदी विक्रेता अपने वाहन को तब बेचना चाहते हैं जब यह छह से आठ साल पुरानी हो.

इसलिए लोग खरीद रहे पुरानी कारें-

लोगों नई कारों से ज्यादा पुरानी कारें इसलिए भी खरीद रहें हैं क्योंकि 2018 में जीएसटी परिषद ने सेकंड पुरानी कारों पर लगाए गए टैक्स को घटाकर 18 फीसदी से 12 फीसदी कर दिया. बाजार में बिकने वाली पुरानी कारों में 17 फीसदी फाइनांस की जाती है. नए कार सेगमेंट में लगभग 85 फीसदी खरीदारी वित्तपोषित है.

ऑटो एक्सर्टस की मानें तो पुरानी कारों की बिक्री बढ़ने की एक वजह वजह मध्यमवर्ग का दायरा बढ़ना भी है.साथ ही कम बजट (वैल्यू फॉर मनी) में अच्छी गाड़ियां बाजार में उपलब्ध होना भी है.इससे लोगों के पैसे भी बच जाते हैं.

कंपनियां ने बढ़ाया भरोसा-

देश की बड़ी-बड़ी कंपनियां जैसे मारुति ट्रू वैल्यू, और महिंद्रा फर्स्ट चॉइस ने अपनी यूज्ड कार ऑनलाइन बेचना शुरू कर दिया है. जिससे लोगों का भरोसा पुरानी गाड़ियों पर बढ़ता जा रहा है.
उद्योग संगठन सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स द्वारा जारी आंकड़ों की माने तो

साल 2019 के अप्रैल में भारत में नए यात्री वाहनों की बिक्री में 17 फीसदी की कमी आ गई. यह लगभग आठ वर्षों की सबसे खराब मासिक गिरावट थी. आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल में यात्री वाहन की बिक्री 2,47,541 इकाई रही. गई जबकि पिछले साल इसी महीने में यह 2,98,504 थी.

%d bloggers like this: