Renault Triber
Renault Triber
  • ट्राइबर के अपर वेरिएंट में 15 इंच के स्टील व्हीलस मिलेंगे उसके नीचे के जो वेरिएंट है उनमें 14 इंच के व्हीलस दिए जायेंगे
  • रेनो ट्राइबर में रियर पार्किंग सेंसर और रिवर्स कैमरा दिया गया है

ऑटोमोबाइल डेस्क. रेनो (Renault) ने अपने ब्रांड न्यू प्रोडक्ट रेनो ट्राइबर कार को भारत में पेश कर दिया है. यह कंपनी की सात सीटर एमवीपी कार है. ट्राइबर एक सब 4 मीटर कार है. जिसकी लेंथ इकोस्पोर्ट और ब्रेजा जितनी ही रखा गया है.

चलिए बताते है आपको इस कार की खासियत के बारे में

सबसे पहले शुरूआत करते है इस कार के फ्रंट से…

फ्रंट से जब आप इस गाडी को देखेंगे तो आपको क्विड से मिलती जुलती दिखाई देगी. इसकी ग्रिल को रिवाइज किया गया है. बम्पर में भी तबदीली की गई है. इसके साथ इस कार के बोनट को भी रिवाइज किया गया है.

रेनो ट्राइबर के फ्रंट में प्रोजेक्टर हैंडलैम्प मिलते है. वहीं इस कार के अपर वेरिएंट में डे टाइम रनिंग लाइट का इस्तेमाल किया गया है. मगर इसमें आपको फॉग लैम्प नहीं दिए गए है. अब बात करते है गाड़ी के व्हीलस की.

ट्राइबर के अपर वेरिएंट में 15 इंच के स्टील व्हीलस मिलेंगे उसके नीचे के जो वेरिएंट है उनमें 14 इंच के व्हीलस दिए जायेंगे. इस गाड़ी का ग्राउंड क्लियरेंस 182 एमएम है जो कि इसे कॉम्पैक्ट एमवीपी का लुक देता है.

अब बात करते है ट्राइबर के इंजन की खासियत की. आपको रेनो की इस न्यू कार में 1 लीटर का थ्री सिलेंडर वाला इंजन मिलेगा. जो कि 71 बीएचपी पावर के साथ 96 न्यूटन मीटर का मैक्सिम टॉर्क जेनरेट करेगा.

इस इंजन को 5 स्पिड गियर बॉक्स से लैस किया गया है. यह इंजन क्विड के इंजन से अलग है. वहीं इस कार के ड्यूल टोन टाइप इंटीरियर दिया गया है. इसके साथ ही कार में 8 इंच की टचस्क्रीन दी गई है जो कि एपल कार प्ले के साथ एंड्रॉयड ऑटो कार प्ले को भी सपोर्ट करेगी.

रेनो ट्राइबर में रियर पार्किंग सेंसर और रिवर्स कैमरा दिया गया है. इसके साथ ही सेफ्टी फीचर्स के तौर पर 4 एयरबैग्स को भी शामिल किया गया हैं, जो कि ड्राइवर और को पैसेंजर्स के सामने की तरफ मौजूद हैं.

जिस हिसाब से इस गाड़ी को बनाया गया है उस लिहाज से इसमें काफी स्पेस मिलता है. रेनो की इस कार का मुकाबला भारत में 4 मीटर रेंज वाली गाडियों से होगा. भारत में इस कार की बिक्री बहुत हद तक इसके दाम पर निर्भर करेगी.

Trending Tags- Renault TRIBER | Renault Triber 2019 Price in India |

4 COMMENTS

  1. […] ऑटोमोबाइल्स को 28 फीसदी जीएसटी वाले ब्रैकेट में रखा गया है. गाड़ियों पर उनके आकार और सेगमेंट के मुताबिक कंपनसेशन सेस भी लगता है. रेट घटाने से कीमत कम होगी और इससे हो सकता है कि कंज्यूमर्स की ओर से डिमांड बढ़ती दिखाई दें. […]

Leave a Reply