Fani की तबाही के बाद राहत कार्य शुरू..

ओडिशा में चक्रवाती तूफान फानी ने भारी तबाही मचाई है. तूफान की चपेट में आकर मरने वालो की संख्या शनिवार को 16 पहुंच गई. वहीं तूफान थमने के बाद राज्य में अब राहत कार्य भी शुरु हो गया है.

जानकारी के अनुसार राज्य के 10हजार गांवों और 52 शहरों में युद्धस्तर पर राहत कार्य किया जा रहा है. इसके साथ ही राज्यभर में पुनर्वास काम भी चल रहा है.

आंकड़ों की मानें तो इस तूफान का असर राज्य के एक करोड़ लोगों पर हुआ है. इस तूफान के बाद अब लोगों को राहत देने का काम जोरशोर से किया जा रहा है.

ओडिशा में टला नीट

वहीं ओडिशा में हुई भारी तबाही को देखते हुए आज होने वाला मेडिकल एंट्रैंस टेस्ट नीट एग्जाम भी टाल दिया गया है. इसके लिए राज्य सरकार ने केंद्र सरकार को विशेष पत्र लिखा था. केंद्र सरकार ने राज्य सरकार की मांग को स्वीकार करते हुए नीट अगले आदेश तक के लिए पोस्टपोन किया है. इसकी अगली तारीख कुछ दिनों में जारी की जाएगी.

पुरी-भुवनेश्वर में हुई भारी तबाही

तूफान के कारण ओडिशा में 16 मौतें होने की सूचना है. इनमें से अधिकतर मौतें मयूरभंज(चार), पुरी(तीन), भुवनेश्वर(तीन), जाजपुर(तीन), क्योंझर(एक), नयागढ़ (एक) और केंद्रपाड़ा (एक) में हुई हैं.

सैंकड़ों कर्मचारी जुटे राहत कार्य में

ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक ने एक बयान में मीडिया को बताया कि नागरिक सामाजिक संगठनों, एनडीआरएफ, ओडिशा आपदा त्वरित कार्रवाई बल के कर्मचारियों के अलावा आपातकालीन कर्मचारी भी राहत कार्य में जुटे हैं. इनकी मदद से सामान्य जनजीवन को दोबारा पटरी पर लाने की कोशिश की जा रही है.

%d bloggers like this: