रिलायंस रिटेल में 3,675 करोड़ रुपये निवेश करेगी जनरल अटलांटिक

30
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

-रिलायंस रिटेल में इसके बदले 0.84 फीसदी की हिस्‍सेदारी मिलेगी

-इससे पहले जियो प्लेटफॉर्म्स में 6,598.38 करोड़ रुपये का निवेश

नई दिल्‍ली. मुकेश अंबानी की कंपनी रिटेल कंपनी, रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटिड (आरआरवीएल) ने तीसरी बड़ी डील की है. प्राइवेट इक्विटी फर्म जनरल अटलांटिक ने बुधवार को रिलायंस रिटेल में 3,675 करोड़ रुपये का निवेश करने का ऐलान किया है.

इस निवेश के जरिए कंपनी को रिलायंस रिटेल में 0.84 फीसदी हिस्‍सेदारी मिलेगी. इस डील के लिए रिलायंस रिटेल की प्री-मनी इक्विटी वैल्यू 4.285 लाख करोड़ रुपये आंकी गई है.

कोरोना काल में रिलायंस रिलायंस रिटेल में ये तीसरा निवेश है. इस महीने की शुरुआत में दुनिया की दिग्गज टेक इन्वेस्टर कंपनी सिल्वर लेक ने रिलायंस रिटेल में 7500 करोड़ रुपये निवेश करने का ऐलान किया था, जिसके बदले में कंपनी को रिलायंस रिटेल में 1.75 फीसदी हिस्सेदारी मिली है.

वहीं हाल ही में अमेरिकी कंपनी केकेआर ने भी रिलायंस रिटेल में 1.75 फीसदी हिस्सेदारी 5,550 करोड़ रुपये में खरीदी है. रिलायंस रिटेल लिमिटेड आरआरवीएल की सहायक कंपनी है, जो देशभर में 12,000 स्टोर्स का संचालन करती है.

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी ने इस सौदे के बारे में कहा कि हमें जनरल अटलांटिक के साथ अपने रिलेशन को आगे बढ़ाने की बहुत खुशी है. हम व्यापारियों और उपभोक्ताओं दोनों को समान रूप से सशक्त बनाने और भारतीय रिटेल को बदलने की दिशा में काम कर रहे हैं.

इस डील पर रिलायंस रिटेल की निदेशक ईशा अंबानी ने कहा कि एक महत्वपूर्ण भागीदार के रूप में जनरल अटलांटिक का स्वागत करते हुए हमें बेहद खुशी हो रही है. सभी भारतीय उपभोक्ताओं और व्यापारियों के हित में हम भारतीय रिटेल ईको-सिस्टम का विकास जारी रखेंगे. रिटेल स्पेस में जनरल अटलांटिक के पास जबरदस्त विशेषज्ञता है और इससे हमें लाभ की उम्मीद है.

वहीं, जनरल अटलांटिक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सीईओ बिल फोर्ड ने कहा कि जनरल अटलांटिक भारत के खुदरा क्षेत्र में पर्याप्त सकारात्मक बदलाव लाने के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज के नए वाणिज्य मिशन का समर्थन करने के लिए उत्साहित है. जनरल अटलांटिक इससे पहले जियो प्लेटफॉर्म्स में 6,598.38 करोड़ रुपये निवेश करने की घोषणा की थी.

हिन्‍दुस्‍थान समाचार/प्रजेश शंकर