Mukesh Ambani की कंपनी को हुआ बड़ा फायदा
  • पिछले साल की समान तिमाही में कंपनी को 8,820 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था
  • पिछले साल की तुलना में आरआईएल को बिक्री एवं परिचालन आय में 1559 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है तो वहीं शुद्ध मुनाफे में 216 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी दर्ज हुई है

नई दिल्ली. रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) ने शुक्रवार को वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही के नतीजे घोषित कर दिए हैं. रिलायंस इंडस्ट्रीज को पहली तिमाही का शुद्ध मुनाफा 9,036 करोड़ रुपये रहा है, जबकि इस तिमाही में कंपनी की बिक्री तथा परिचालन से प्राप्त कुल आय 95,981 करोड़ रुपये हो गई है.

पिछले साल की समान तिमाही में कंपनी को 8,820 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था और बिक्री और परिचालन से प्राप्त कुल आय 97,540 करोड़ रुपये रही थी. पिछले साल की तुलना में आरआईएल को बिक्री एवं परिचालन आय में 1559 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है तो वहीं शुद्ध मुनाफे में 216 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी दर्ज हुई है.

समेकित शुद्ध मुनाफा 10141 करोड़ रुपये

30 जून, 2019 को समाप्त तिमाही के समेकित वित्तीय परिणाम के अनुसार इस तिमाही में समूह का समेकित शुद्ध मुनाफा 10,141 करोड़ रुपये रहा है, जबकि पिछले साल कंपनी को 9,485 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था.

समूह की बिक्री तथा परिचालन से प्राप्त कुल आय बढ़कर 1,64,495 करोड़ रुपये हो गई है, जबकि पिछले साल की समान तिमाही में कंपनी को इस मद के तहत कुल 1,34,847 करोड़ रुपये का राजस्व मिला था.

समेकित वित्तीय परिणामों के अनुसार कंपनी को इस तिमाही में बिक्री तथा परिचालन से प्राप्त कुल आय 29648 करो़ड़ रुपये हो गई है, जबकि शुद्ध आय में भी 656 करो़ड़ रुपये का इजाफा हुआ है.

 तिमाही आधार पर कंपनी की आय 1.57 लाख करोड़ बढ़ी

पिछले साल की तुलना में कंपनी को 6.8 फीसदी अधिक राजस्व मिला है. इस अवधि में कंपनी की आय बढ़कर 1.57 लाख करोड़ रुपये हो गई है. तिमाही आधार पर कंपनी को कन्सोलिडेटेड रेवेन्यू के रूप में 172,956 करोड़ रुपय़े (25.1 बिलियन डॉलर) की आमदनी हुई है.

पिछले साल कंपनी को 141,699 करोड़ रुपये की आमदनी हुई थी. कंपनी को 22.1 फीसदी का अधिक समेकित राजस्व मिला है। तिमाही आधार पर कंपनी का नेट प्रॉफिट भी 2.4 फीसदी बढ़ा है. इस तिमाही में कंपनी ने 9,036 करोड़ रुपये (1.3 बिलियन डॉलर) का नेट प्रॉफिट कमाया है.


जीएमआर 8.20 डॉलर प्रति बैरल घटा

पहली तिमाही में कंपनी का ग्रॉस रिफाइनिंग मार्जिन (जीएमआर) पिछली तिमाही की तुलना में 8.20 डॉलर प्रति बैरल से घटकर 8.10 डॉलर प्रति बैरल पर रही है. तिमाही दर तिमाही आधार पर पहली तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का कंसोलिडेटेड एबिटडा मार्जिन 15 फीसदी से घटकर 13.6 फीसदी और कंसोलिडेटेड एबिटडा 20,832 करोड़ रुपये से बढ़कर 21315 करोड़ रुपये रहा है. 

पेट्रो केमिकल बिजनेस की कमाई घटी

आरआईएल को वित्तीय वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही में कंसॉलिडेटेड पेट्रोकेमिकल सेगमेंट में एबिटडा 7508 करोड़ रुपये रहा है, जबकि पिछले साल की पहली तिमाही में यह 7,857 करोड़ रुपये रहा था.

समीक्षाधीन तिमाही में आरआईएल का रिफाइनिंग और रिटेल एबिटडा क्रमश: 4508 करोड़ रुपये और 1,777 करोड़ रुपये रहा है. पिछले साल की इसी अवधि में यह आंकड़ा क्रमश: 5,315 करोड़ और 1,069 करोड़ रुपये रहा था. 

रिलायंस जियो को 891 करोड़ का मुनाफा

वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही में रिलायंस जियो का मुनाफा 891 करोड़ रुपये रहा है. अप्रैल-जून 2019 के दौरान जियो का रेवेन्यू 11,679 करोड़ रुपये, एबिटडा 4,686 करोड़ रुपये और मार्जिन 40.1 फीसदी रहा है.

टॉवर इन्फ्रास्ट्रक्चर में  25,215 करोड़ रुपये का निवेश

रिलायंस ने टॉवर इन्फ्रास्ट्रक्चर ट्रस्ट के तहत ब्रुकफील्ड के साथ 25,215 करोड़ रुपये के निवेश के लिए समझौता करार किया है. यह निवेश किसी भी भारतीय कंपनी की ओर से बुनियादी ढांचे में एकल सबसे बड़ा विदेशी निवेश है.

समेकित वित्तीय परिणामों के अनुसार, रिलायंस जिओ में उपभोक्ता व्यवसाय इस तिमाही में एबिटडा का 32 फीसदी हो गया है. सालाना आधार पर डिजिटल सेवा और खुदरा व्यापार सेगमेंट में क्रमशः 55 फीसदी और 48 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है. 

निर्यात में 4.5 फीसदी की कमी

निर्यात (डीम्ड निर्यात सहित) सेगमेंट में आरआईएल के भारत परिचालन में 4.5 फीसदी की कमी आई हैष इस साल केवल 50,158 करोड़ रुपये (7.3 बिलियन डॉलर) की आय हुई है, जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि में 52,501 करोड़ की आय हुई थी. इसके पीछे ब्रेंट ऑयल की कीमत में 7.4 फीसदी की बढ़ोतरी के कारण पेट्रो केमिकल और रिफाइनिंग उत्पादों की कमी आई है। इससे निर्यात प्रभावित हुआ है.

हिन्दुस्थान समाचार / राधेश्याम

Trending Tags: Reliance Jio | Mukesh Ambani | Reliance Industries | Business News

2 thoughts on “Mukesh Ambani की कंपनी को हुआ बड़ा फायदा”

Leave a Comment

%d bloggers like this: