खुशखबरी… JAMIA में हो रही रिक्रूटमेंट… यहां देखें प्रोसेस..

अगर आप भी नौकरी ढूंढ रहे हैं तो आपके लिए खुशखबरी है. जामिया मिल्लिया इस्लामिया (JMI) के कई डिपार्टमेंट और सेंटर्स में प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर, एसिस्टेंट प्रोफेसर और रिसर्च साइंटिस्ट की पोस्ट पर रिक्रूटमेंट शुरू कर दी है. आप भी इन पोस्ट के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

इस प्रोसेस में यूनिवर्सिटी के खाली पड़े 64 पोस्ट को भरा जाएगा. JMI की कुलपति नजमा अख्तर (Najma Akhtar) के पद संभालने के बाद से ही इसे लेकर प्रोसेस शुरू हो गया है. इन 64 पोस्ट के लिए JMI ने एप्लीकेशन मंगाई हैं.

JMI ने हाल ही में लाइब्रेरियन, फाइनेंस ऑफिसर, डिप्टी और एसिस्टेंट लाइब्रेरियन के पोस्ट के लिए रिक्रूटमेंट की थी. इसके बाद अब प्रोफेसर के खाली पड़े पदों के लिए भी भरने की प्रक्रिया शुरू की गई है.

अगर आपको भी JMI में अप्लाई करना है तो आप JMI की ऑफिशियल वेबसाइट https://www.jmi.ac.in पर जाकर अप्लाई कर सकते हैं.

वेबसाइट पर जाकर आपको अप्लाई करने के लिए फीस, योग्यता और बाकी जानकारी मिल जाएगी. JMI में अप्लाई करने की लास्ट डेट 17 जुलाई रखी गई है.

इन डिपार्टमेंट है खाली पोस्ट

JMI की फैकल्टी ऑफ एजुकेश में कुल 28 पोस्ट खाली हैं. इसमें पांच प्रोफेसर, चार एसोसिएट प्रोफेसर और 19 एसिस्टेंट प्रोफेसर की पोस्ट खाली पड़ी हैं.

फैकल्टी ऑफ नैचुरल साइंस के अलग अलग डिपार्टमेंट में तीन प्रोफेसर, पांच एसोसिएट प्रोफेसर और आठ एसिस्टेंट प्रोफेसर के खाली पोस्ट पड़े हुए हैं. वहीं फैकल्टी ऑफ ह्यूमैनिटीज़ एंड लैंगग्विजेज़ में एक प्रोफेसर और दो एसोसिएट प्रोफेसर के लिए पोस्ट खाली हैं.

फैकल्टी ऑफ फाइन आर्ट्स के भी कई डिपार्टमेंट में इस रिक्रूटमेंट के जरिए प्रोफेसर मिलेंगे. यहां प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर और एसिस्टेंट प्रोफेसर के दो-दो पोस्ट भरे जाने हैं. 

फैकल्टी ऑफ डेन्टिस्ट्री में एसिस्टेंट प्रोफेसर के दो पद खाली हैं. फैकल्टी ऑफ सोशल साइंस में प्रोफेसर और एसिस्टेंट प्रोफेसर के एक एक पद भरे जाने हैं.

JMI के सबसे महत्वपूर्ण डिपार्टमेंट में से एक एजेके मास कम्युनिकेशन रिसर्च सेंटर में एक एसोसिएट प्रोफेसर- कम्युनिकेशन थ्येरी एंड रिसर्च , एक एसिस्टेंट प्रोफेसर-थ्येटर और एक रिसर्च साइंटिस्ट ‘ए‘ की पोस्ट पर रिक्रूटमेंट होगी.

इसके अलावा एमएमएजे-अकेडमी ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज़ में चाइना स्टडीज़ के लिए एक एसिस्टेंट प्रोफेसर की ज़रूरत है.

JMI के ये सभी पोस्ट पांच सालों के लिए हैं. शुरूआती तौर पर ये पोस्ट इतने समय के लिए हैं. मगर उम्मीद है कि इन्हें आगे भी बढ़ाया जा सकता है.

Leave a Comment

%d bloggers like this: