RBI ने दिया बड़ा तोहफा, सोने पर मिलेगा ज्यादा लोन

Gold-Silver
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी के इस दौर में लोगों का भरोसा सोने और चांदी पर तेजी से बढ़ा है. जिसके कारण सोने की मांग बढ़ी है. लोगों के इसी भरोसे को देखते हुए आरबीआई ने एक बड़ा तोहफा आम आदमी को दिया है. दरअसल आरबीआई ने गोल्ड ज्वेलरी पर कर्ज की वैल्यू को बढ़ा दिया है. 

पहले सोना के कुल मूल्य के मुकाबले 75 फीसदी राशि का लोन मिलता था. जिसे अब आरबीआई ने बढ़ाकर 90 फीसदी तक कर दिया है. यह सुविधा 31 मार्च 2021 तक ही है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोरोना के इस संकट में ये फैसला बेहद फायदेमंद होगा. क्योंकि आम आदमी और छोटे कारोबारी अपने सोने पर ज्यादा कर्ज ले सकेंगे.

कोरोना काल में लोगों ने सोने का पूरी तरीके से इस्तेमाल किया है. फिर चाहे निवेश करना हो, या लोन लेना हो या फिर बैंक में सोने की ज्वेलरी को रखकर ब्याज लेना हो. लोगों ने हर तरीके से इसका फायदा उठाया है. इसी को देखते हुए आरबीआई ने ये कदम उठाया है.

पर्सनल लोन के मुकाबले गोल्ड लोन में ब्याज दर कम होती है और ये आसानी से मिल भी जाता है. आप जिस बैंक या नॉन-बैकिंग फाइनेंस कंपनी में गोल्ड लोन का आवेदन करते हैं, वह पहले आपके सोने की गुणवत्ता की जांच करते हैं. सोने की गुणवत्ता के हिसाब से ही लोन की राशि तय होती है. आमतौर पर बैंक अभी तक सोने के मूल्य के 75 फीसदी तक लोन दे देते हैं.

पर्सनल लोन लेने के लिए आपको कई तरह के डॉक्यूमेंट दिखाने होते हैं. इसके बाद आपके जॉब प्रोफाइल और क्रेडिट स्कोर के आधार पर 10-15 फीसदी के बीच ब्याज दरों पर लोन मिलता है. जबकि गोल्ड लोन के साथ ऐसा नहीं है. गोल्ड लोन देने वाले संस्थान आपसे केवाईसी डॉक्यूमेंट और वैल्यूएशन के लिए गोल्ड की ज्वेलरी मांगते हैं.

वेल्यूएशन के बाद कंपनी आपको अधिकतम लोन अमाउंट और वर्तमान स्कीम के बारे में बताएगी. फिर आपकी दी हुई ज्वेलरी के मूल्य का लोन दे दिया जायेगा.अगर आपको लोन अमाउंट कैश में चाहिए तो आप कैश में ले सकते हैं. या फिर अपने बैंक खाते में भी ले सकते हैं. ये आपको 8 से 12 फीसदी के बीच ब्याज दर पर मिल जाता है. आपको बता दें कि ब्याज दरें हर बैंक में अलग-अलग होती हैं.