अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला मामले में रातुल पुरी को मिली जमानत

दिल्ली की राऊज एवेन्यू कोर्ट ने अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला मामले के आरोपित और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रातुल पुरी को जमानत दे दी है. स्पेशल जज अरविंद कुमार ने यह आदेश दिया. पिछले 29 नवम्बर को कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था.

हालांकि बैंक लोन घोटाला मामले में न्यायिक हिरासत में होने की वजह से अभी रातुल पुरी को जेल में ही रहना होगा. पिछले 22 नवम्बर को ईडी ने रातुल पुरी की जमानत याचिका का विरोध किया था.

रातुल पुरी के वकील विकास पाहवा ने स्पेशल जज अरविंद कुमार से कहा था कि रातुल पुरी के खिलाफ इस बात के कोई सबूत नहीं है कि उन्होंने दो रूट से पैसा पाया है. सुनवाई के दौरान विकास पाहवा ने कहा था कि रातुल पुरी को अभियुक्त तभी कहा जा सकता है जब अगस्ता का पैसा उनके खाते में आया हो.

ईडी ने रातुल पुरी के खिलाफ केवल अपनी शिकायत के पेज नंबर 18 पर आरोप लगाया है. रातुल पुरी के खिलाफ दो रुट से पैसा आने का कोई प्रमाण नहीं है. पिछले 16 नवम्बर को रातुल पुरी की जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने ईडी को नोटिस जारी किया था.

पिछले दो नवम्बर को कोर्ट ने रातुल पुरी के खिलाफ ईडी की ओर से दायर पूरक चार्जशीट पर संज्ञान ले लिया था. चार्जशीट में रातुल पुरी के अलावा जसप्रीत आहुजा को भी आरोपित बनाया गया है. कोर्ट ने रातुल पुरी के खिलाफ प्रोडक्शन वारंट जारी किया था और जसप्रीत आहुजा के खिलाफ समन जारी किया था. कोर्ट ने दोनों आरोपियों को 18 दिसम्बर को पेश होने का निर्देश दिया.

ईडी ने चार्जशीट में कहा है कि अगस्ता वेस्टलैंड द्वारा दो तरह से करीब 17 मिलियन युरो दिए गए. ये रकम क्रिश्चियन मिशेल की कंपनी के जरिए रातुल पुरी को दिए गए. ईडी की ओर से वकील एनके माटा ने कोर्ट को बताया था कि जांच के दौरान किसी नियामत के परिसर की भी तलाशी ली गई, जहां से कुछ दस्तावेज बरामद किए गए.

माटा ने बताया था कि दूसरे अभियुक्त जसप्रीत आहुजा ने रातुल पुरी को धन मुहैया करवाने में मदद की थी. जसप्रीत आहुजा ने पैसों को लाने के लिए कुछ कंपनियां बनवाई और उसके जरिए पैसा रातुल पुरी तक पहुंचाया गया.

पिछले 21 अक्टूबर को कोर्ट ने ईडी को रातुल पुरी से तिहाड़ जेल में 22 अक्टूबर से 24 अक्टूबर तक पूछताछ की अनुमति दी थी. रातुल पुरी पर आरोप है कि अगस्ता हेलिकॉप्टर केस में उनकी कंपनियों में दुबई से पैसा ट्रांसफर किया गया था.

हिन्दुस्थान समाचार/संजय

Leave a Reply