देवघर के बाबा बासुकीनाथ के मंदिर में खुली बेतरतीब विद्युतीकरण की पोल, तीर्थ यात्रियों को खतरा

  • बैद्यनाथ एवं बासुकीनाथ श्राइन बोर्ड का गठन पहले ही किया जा चुका है
  • निशिकांत दुबे भी इस पर अपनी चिंता जाहिर करते हुए बैठक के माध्यम से समस्याओं के निराकरण की आवश्यकता जता चुके हैं.

देवघर, 7 जनवरी (हि.स.). पहली जनवरी को बाबा बासुकीनाथ मंदिरके गर्भगृह में करंट से मंदिर के एक पंडे की मौत ने विद्युतीकरण की पोल खोलकर रख दी है. अब देवघर के विश्व विख्यात बाबा बैद्यनाथ मंदिर के बेतरतीब विद्युतीकरण की चर्चाएं होने लगी है.

बाबा बैद्यनाथ मंदिर में प्रतिदिन हजारों तीर्थ यात्रियों का आगमन होता है. श्रावण-भादो सहित अन्य विशेष अवसरों पर प्रतिदिन लाखों लोग बाबा बैद्यनाथ की पूजा-अर्चना के लिए आते हैं. बाबा बैद्यनाथ मंदिर से जुड़े लोग बताते हैं कि बाबा मंदिर के मंझला खण्ड,पार्वती मंदिर, काली मंदिर, महाकाल भैरव मंदिर, फुट ओवरब्रिज समेत कई अन्य ऐसे स्थल हैं जहां बेतरतीबी से उलझे बिजली के तार खतरों को आमंत्रित करते दिखते हैं.

बाबा बैद्यनाथ एवं बासुकीनाथ श्राइन बोर्ड का गठन पहले ही किया जा चुका है. जिसके पदेन अध्यक्ष राज्य के मुख्यमंत्री होते हैं. प्रशासक स्थानीय उपायुक्त होते हैं.

बावजूद इतने महत्वपूर्ण बाबा मंदिर की बिजली व्यवस्था संचालित करने के लिए विशेषज्ञों की नियुक्ति नहीं की गई है. स्थानीय सांसद निशिकांत दुबे भी इस पर अपनी चिंता जाहिर करते हुए बैठक के माध्यम से समस्याओं के निराकरण की आवश्यकता जता चुके हैं.

Also Read: Basukinath Mandir | Aaj ka Samachar | News Today | Latest News in Hindi

हिन्दुस्थान समाचार/चन्द्र विजय प्रसाद चन्दन

Leave a Reply

%d bloggers like this: