पटना के जनार्दन घाट पर रामविलास पासवान की अंतिम विदाई, चिराग देंगे मुखाग्नि

Rekha
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. दिवंगत केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) का अंतिम संस्कार आज राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा. पटना के दीघा के जनार्दन घाट पर पासवान को अंतिम विदाई दी जाएगी. उनके पुत्र और लोजपा (LJP) अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) उन्हें मुखाग्नि देंगे.

रामविलास पासवान के पार्थिव शरीर को पटना स्थित लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के दफ्तर में अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है. रामविलास पासवान के पार्थिव शरीर पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने श्रद्धांजलि अर्पित की.

इससे पहले शुक्रवार की शाम सात बजे के बाद स्वर्गीय राम विलास पासवान के पार्थिव शरीर को दिल्ली से पटना (Delhi to patna) लाया गया. पटना एयरपोर्ट (Patna Airport) पर रामविलास पासवान के अंतिम दर्शनों के लिए समर्थकों की भारी भीड़ देखी गई.

जहां स्टेट हैंगर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) , केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय, डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी एवं नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी. इसके बाद वहां से उनका शव सीधा विधान सभा ले जाया गया. फिर उनके पार्थिव शरीर को पटना पार्टी कार्यालय ले जाया गया.

शुक्रवार को दिल्ली में उनके आवास पर रामविलास पासवान का पार्थिव शरीर रखा गया था जहां, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह समेत वरिष्ठ नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी थी. बता दें कि पासवान का लंबी बीमारी के बाद गुरुवार शाम निधन हो गया था. 74 साल के रामविलास पासवान कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे.

बता दें कि 70 के दशक में लालू प्रसाद यादव और नीतीश कुमार के साथ अपना राजनीतिक करियर शुरू करने वाले रामविलास पासवान 1969 में पहली बार अलौली सीट से विधानसभा चुनाव जीते थे. उन्होंने खुद को कभी अप्रासंगिक नहीं होने दिया. 1977 में पहली बार लोकसभा चुनाव जीतने वाले पासवान 9 बार लोकसभा सांसद रहे.