राम मंदिरः भूमि पूजन को कराने वाले ब्राम्हण ने पीएम मोदी से दक्षिणा में क्या मांगा

PM Modi Ayodhya
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

अयोध्या में आज (बुधवार को) भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन का कार्यक्रम किया गया. इस कार्यक्रम में पीएम मोदी के करकमलों (हाथों) से मंदिर की पहली ईंट रखी गई. पूरे मंत्रोच्चारण के साथ भूमि पूजन को सम्पन्न कराया गया. भूमि पूजन के दौरान आरएसएस प्रमुख डॉ. मोहन भागवत भी पूजन में शामिल हुए.

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी इस पूजन में शामिल हुईं. कोरोना वायरस के कारण सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखते हुए सभी लोग दूर-दूर बैठे थे. कार्यक्रम में देशभर के कई साधु-संत भी मौजूद रहे.

भूमि पूजन कराने वाले ब्राम्हण ने पूजन के अंत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूजन कराने की दक्षिणा मांगी. पुरोहित ब्राम्हण ने दक्षिणा में पीएम मोदी से कहा कि किसी भी यज्ञ में दक्षिणा महत्वपूर्ण होती है. उन्होंने दक्षिणा को यज्ञ की स्त्री बताया. उन्होंने कहा कि दक्षिणा के बिना कोई यज्ञ पूर्ण नहीं होता. इसलिए दक्षिणा देना अति आवश्यक होता है.

पुरोहित ब्राम्हण ने पीएम मोदी से कहा कि दक्षिणा तो आज इतनी दे दी गई कि आज अरबों आशीर्वाद प्राप्त हो रहे हैं. भारत तो हमारा ही है, उससे उपर और कुछ दें. कुछ समस्याएं हैं, उन समस्याओं को दूर करने का संकल्प तो लिए हुए हैं, 5 अगस्त में कुछ और जुड़ जाए तो भगवान की कृपा होगी.

यानी पुरोहित ब्राम्हण ने पीएम मोदी से 5 अगस्त को और कई ऐतिहासिक कार्य करने की दक्षिणा मांगी. पुरोहित के अनुसार देश में अभी भी कई समस्याएं हैं, जिन्हें दूर करना है. पुरोहित ने अपनी दक्षिणा में पीएम मोदी से इन समस्याओं को दूर करने को कहा.