डोकलाम की तरह इस बार भी वार्ता से निकलेगा हलः राजनाथ

लद्दाख में सीमा विवाद को लेकर भारत-चीन में पैदा हुए तनाव के बीच रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बातचीत से हल निकलने की उम्मीद जताई है. रक्षामंत्री ने कहा कि डोकलाम विवाद की तरह इस बार भी दोनों देशों के बीच बातचीत से हल निकल आएगा.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने माना है कि लद्दाख में गलवान वैली और पैंगोग त्सो के चार पाइंट्स पर भारत-चीन के सैनिक डटे हुए हैं. हालांकि इस बीच तनाव बढ़ाने वाली कोई नई घटना नहीं हुई है लेकिन फिर भी तनाव बरकरार है.​ ​​

रक्षामंत्री ने उम्मीद जताई कि 6 जून को फिर दोनों सेनाओं के वरिष्ठ अधिकारियों की ​बातचीत में विवाद का हल​ ​जरूर निकलेगा. ​​उन्होंने कहा कि अब तक कई दौर की वार्ता में दोनों देशों के सैन्य अधिकारी किसी ऐसे नतीजे तक नहीं पहुंच पाए हैं जिससे समाधान निकल सके. इसलिए साथ-साथ ​​भारत-चीन के बीच ​कूटनीतिक स्तर पर भी बातचीत जारी है.

 ​​

लेह स्थित 14 कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह अगले दौर की बातचीत का नेतृत्व करने के लिए तैयार हैं. इस बार चीनी कर्नल, ब्रिगेडियर और प्रमुख जनरलों को स्पष्ट संदेश दिया गया है कि वार्ता से समस्या का हल निकलना चाहिए क्योंकि इससे पहले कई दौर की बातचीत लंबे सैन्य गतिरोध को तोड़ने में विफल रही है. ​​

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि इससे प​हले भी ​डोकलाम​ ​विवाद का हल ​दोनों देशों के सैन्य ​अधिकारियों के बीच वार्ता से कूटनीतिक स्तर पर निकला है. ​​उन्होंने कहा कि चीनी सैनिक एक ‘बड़ी संख्या’ उन क्षेत्रों में स्थानांतरित हो गए हैं, जिस पर चीन अपना दावा करता है.

उन्होंने कहा कि भारत की तरफ से भी ज्यादा सैनिकों की तैनाती की गई है और भारत ने भी स्थिति से निपटने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए हैं. ​उन्होंने कहा ​कि ​अब तक सैन्य ​अधिकारियों के बीच​ वार्ताओं में समस्या का हल नहीं निकल पाया है लेकिन वार्ता के रास्ते अभी बंद नहीं हुए हैं. ​​रक्षामंत्री ने उम्मीद जताई कि 6 जून की वार्ता में इसका हल​ ​जरूर निकलेगा.

हिन्दुस्थान समाचार/सुनीत

Leave a Reply

%d bloggers like this: