#Election2019: राजनाथ ने की मुस्लिम धर्मगुरुओं से मुलाकात, मांगा समर्थन
  • राजनाथ भी देश के कई हिस्सों में चुनावी जनसभाओं को सम्बोधित करने के साथ लखनऊ में अपना वक्त दे रहे हैं
  • जब बीजेपी ने सरकार बनायी थी तो देश में 14.5 करोड़ लोग गम्भीर गरीबी के संकट में थे

लखनऊ. केन्द्रीय गृह मंत्री और लखनऊ लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार राजनाथ सिंह क्षेत्र में लगातार लोगों से जनसम्पर्क कर समर्थन जुटाने में लगे हैं. इसी कड़ी में उन्होंने मंगलवार को ईदगाह इमाम मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली, मौलाना आगा रूही और मौलाना यासूब अब्बास से मुलाकात की. इस दौरान उनके साथ प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा और कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक भी मौजूद रहे.

राजनाथ सिंह लखनऊ से दूसरी बार किस्मत आजमा रहे हैं. उनकी जीत के लिए पार्टी कार्यकर्ता जनपद के पांचों विधानसभा क्षेत्रों लखनऊ पश्चिम, लखनऊ उत्तरी, लखनऊ पूर्वी, लखनऊ मध्य और लखनऊ कैंट में प्रचार करने में जुटे हैं. इसके अलावा राजनाथ भी देश के कई हिस्सों में चुनावी जनसभाओं को सम्बोधित करने के साथ लखनऊ में अपना वक्त दे रहे हैं.

राजनाथ शहर की नामचीन हस्तियों से मुलाकात के साथ साथ छोटी-छोटी सभाएं भी कर रहे हैं.
उन्होंने सोमवार रात एक जनसभा में कहा कि कांग्रेस ने दावा किया है कि उनकी सरकार बनने पर वो गरीबी दूर करेंगे लेकिन आजाद भारत में लगातार 55-60 वर्षों तक कांग्रेस की सरकारें रही पर गरीबी दूर नही हो पायी. उन्होंने कहा कि इसके विपरीत पीएम मोदी सरकार सरकार ने नजीर पेश की है.

अमेरिका का एक जाना माना थिंकटैंक है. जिसका नाम ड्रापिंग इस्टीट्यूट है. राजनाथ ने कहा कि उसका सर्वे कहता है कि 2014 में जब बीजेपी ने सरकार बनायी थी तो देश में 14.5 करोड़ लोग गम्भीर गरीबी के संकट में थे. लेकिन जब उसने 2019 में सर्वे कराया तो 7.50 करोड़ लोग गम्भीर गरीबी के संकट से ऊपर उठ चुके हैं. उन्होंने कहा कि अब देश में केवल पांच करोड़ लोग गम्भीर गरीबी के संकट में रह गये हैं.

राजनाथ सिंह ने कहा कि आजाद भारत के पन्नों को पलटकर देखिये जब-जब कांग्रेस की सरकार रही है महंगाई चरम पर रही है. हमारे भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान में महंगाई की दर 10-12 प्रतिशत तक रही है, लेकिन हम उसे केवल 2-3 प्रतिशत पर बांधे रखने में सफल हुये हैं.

लखनऊ लोकसभा सीट पर पांचवे चरण में 6 मई को मतदान होना है. लखनऊ में राजनाथ सिंह का मुकाबला कांग्रेस उम्मीदवार आचार्य प्रमोद कृष्णम और सपा की पूनम सिन्हा से माना जा रहा है.
इससे पहले 2014 के लोकसभा के लखनऊ चुनाव में 53.02 फीसदी मतदान हुआ था तब राजनाथ सिंह को 5,61,106 वोट मिले थे. उनकी विरोधी कांग्रेस की रीता बहुगुणा जोशी को केवल 2,88,357 वोट मिले थे. इस तरह राजनाथ सिंह ने 2,72,749 वोटों से जीत दर्ज की. रीता जोशी अब प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री और प्रयागराज से बीजेपी की लोकसभा उम्मीदवार हैं.

हिन्दुस्थान समाचार/संजय

Trending Tags- Loksabha Election 2019, Election 2019, Congress 2019, Bjp 2019, Rajnath Singh, Lucknow Loksabha, General Election 2019, Election News, Election Commission.

%d bloggers like this: