#RajasthanCrisis: पायलट की छुट्टी, राजस्थान कांग्रेस के नए अध्यक्ष बने गोविंद सिंह डोटासरा, जानिए इनका राजनीतिक सफर

नई दिल्ली. सचिन पायलट को राजस्थान के डिप्टी सीएम पद से के साथ ही कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद से हटा दिया गया है. इसके अलावा उनके गुट के 2 मंत्रियों को भी अशोक गहलोत कैबिनेट से हटा दिया गया है. गोविंद सिंह को राजस्थान का नया अध्यक्ष नियुक्त किया गया है. ये फैसला कांग्रेस के विधायक दल की बैठक में लिया गया. आइए जानते हैं राजस्थान के नए कांग्रेस अध्यक्ष के बारे में कुछ बातें

  • -गोविंद सिंह डोटासरा मूल रूप से सीकर के रहने वाले हैं. साथ ही उन्होंने सबसे पहले लक्ष्मणगढ़ सीकर सीट से 2008 में चुनाव जीता था.
  • गोविंद सिंह डोटासरा की गिनती प्रदेश के बड़े कांग्रेसी नेताओं में होती है. वो गहलोत कैबिनेट में प्राइमरी और सेकेंडरी एजुकेशन विभाग के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हैं.
  • डोटासरा ने 20 साल सीकर में प्रतिष्ठित वकील के रूप में भी जीवनकाल बिताया है. इनके पिता सरकारी शिक्षक थे.
  • 55 वर्षीय गोविंद सिंह डोटासरा ने अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत 2005 में सीकर जिले के समिति ग्राम पंचायत में बतौर प्रधान चुने जाने से की थी.
  • इसके बाद वो 2008 में विधानसभा का चुनाव लड़े और 34 वोटों से जीते थे.
  • 2013 में गोविंद सिंह डोटासरा ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और तीन बार सांसद रहे सुभाष महरिया को 10 हजार 723 वोटों से हराया था.
  • 2013 में राजस्थान में वसुंधरा राजे की अगुवाई में बीजेपी सरकार बनी. इस दौरान गोविंद सिंह डोटासरा ने विधानसभा में कई अहम मुद्दे उठाए.
  • 2014 से डोटासरा राजस्‍थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्‍यक्ष भी थे. जुलाई 2011 से मई 2018 तक उन्‍होंने सीकर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्‍यक्ष की भी जिम्‍मेदारी निभाई. वर्तमान में वो नागौर जिला कांग्रेस कमेटी के प्रभारी भी हैं.
  • 2018 के चुनाव में गोविंद सिंह डोटासरा ने लगातार तीसरी बार लक्ष्मणगढ़ सीट से जीत दर्ज की. इस बार उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी को 22 हजार से अधिक वोटों से हराया.

आज पार्टी ने मौजूदा राजनीतिक संकट के बीच कांग्रेस विधायक दल की बैठक में नहीं आने वाले और पायलट के साथ गए मंत्रियों के अलावा दो अन्य विधायकों को भी उनके पदों से हटा दिया है.

राजस्‍थान कांग्रेस विधायक दल के निर्णय के कुछ ही मिनिटों बाद सचिन पायलट ने अपने ट्विटर एकाउंट से उपमुख्यमंत्री पदनाम हटा दिया. साथ ही ट्वीट किया कि ‘सत्य को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं’.

जयुपर में पर्यवेक्षक बनाकर भेजे गए रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यह घोषणा की है. सुरजेवाला ने नए प्रदेश अध्यक्ष के नाम की घोषणा करते हुए कहा कि किसान के घर में जन्मे और ओबीसी समाज से आने वाले राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा को यह जिम्मेदारी दी गई है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: