राजस्थानः करौली हत्याकांड में 4 दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली, बीजेपी ने मोर्चा खोला

Karauli Priest Murder Case
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

राजस्थान के करौली में एक पुजारी की जिंदा जलाकर हत्या कर दी गई. घटना के 4 दिन बीत चुके हैं, लेकिन पुलिस के हाथ अभी भी खाली हैं. इस मामले में पुलिस अभी तक सिर्फ एक ही आरोपी को गिरफ्तार कर सकी है. जबकि बाकी के 7 आरोपी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं.

दरअसल जमीनी विवाद को लेकर कुछ दबंगों ने एक करौली के सपोटरा इलाके में एक पुजारी पर पेट्रोल छिड़कर उसे जिंदा जला दिया गया था. इस घटना के बाद पीड़ित परिवार ने 8 लोगों पर नामजद मुकदमा दर्ज कराया था. लेकिन पुलिस अभी तक सिर्फ एक ही आरोपी को पकड़ने में कामयाबी हासिल कर सकी है.

बीजेपी ने सरकार को घेरा

इस मामले में पुलिस की निष्क्रियता से विपक्ष सरकार पर हावी होने लगा है. यूपी के हाथरस कांड पर कांग्रेस ने जिस तरह से राजनीति की, उससे बीजेपी को एक मौका मिल गया है कांग्रेस की सरकार को घेरने की. और बीजेपी इस मौके को गंवाना नहीं चाहती है.

बीजेपी ने राज्य की गहलोत सरकार पर सवाल उठाए हैं. बीजेपी ने सवाल किया कि क्या यही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का भयमुक्त राजस्थान है, जिसका उन्होंने वादा किया था. बीजेपी नेता राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा कि राजस्थान में आज कोई सुरक्षित नहीं है.

उन्होंने कहा कि यहां न महिलाएं सुरक्षित हैं और न ही बच्चे, यहां पुजारी भी सुरक्षित नहीं हैं. उन्होंने कहा कि महीनों तक 5 सितारा होटल में रहने वाली सरकार केवल खुद की सुरक्षा कर सकती है, जनता की नहीं. पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने भी कांग्रेस सरकार को आड़े हाथों लिया है. वहीं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने भी कहा कि प्रदेश में अपराधियों में कानून का भय समाप्त हो गया है.

राजे ने ट्वीट कर कहा कि इस घटना की जितनी निंदा की जाए कम है. प्रदेश में अपराध का ग्राफ जिस गति से बढ़ रहा है उससे स्पष्ट है यहां महिलाएं, बच्चे, बूढ़े, दलित और व्यापारी कोई भी सुरक्षित नहीं हैं. कांग्रेस सरकार को गहरी नींद त्यागकर, दोषियों को सजा दिलाकर परिजनों को तुरंत न्याय दिलाना चाहिए.