राजस्थान- पायलट गुट को राहत, हाईकोर्ट ने लगाया विधानसभा स्पीकर के नोटिस पर स्टे

Ashok And Sachin (FILE)
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. राजस्थान (Rajasthan) में पिछले कुछ दिनों से जारी सियासी उठापटक पर राजस्थान हाईकोर्ट से सचिन पायलट गुट को एक बार फिर राहत मिली है. सियासी संकट के बीच हाईकोर्ट (High Court) ने सचिन पायलट गुट की नोटिस याचिका में यथास्थिति बनाये रखने के आदेश दिये हैं.

इसका मतलब है कि अगले आदेश तक पायलट गुट की सदस्यता को कोई खतरा नहीं है. इसके अलावा इसके अलावा कोर्ट ने सचिन पायलट, बागी विधायकों की ओर से अयोग्यता के मुद्दे पर दायर याचिका में भारत सरकार को पक्षकार बनाए जाने की मांग भी स्वीकार कर ली है. हालांकि अन्य मामलों को लेकर कोर्ट में सुनवाई जारी है. आगे की सुनवाई में इस मामले के कानून पर चर्चा की जाएगी.

यथास्थिति आदेश के बाद अब कोई भी पक्ष कोई कार्रवाई नहीं पायेगा. पूरा मामला सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के अधीन रहेगा. हाई कोर्ट ने माना याचिका मेंटिनेबल है, लेकिन मामला सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है. अब सभी की नजरें सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर रहेगी.

सचिन खेमे के विधायकों ने स्पीकर के नोटिस के खिलाफ अदालत का रुख किया था. पिछली सुनवाई के दौरान अदालत ने राजस्थान स्पीकर को बागियों के खिलाफ किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं करने का आदेश सुनाया था. इसके बाद स्पीकर ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने भी सुनवाई टालने से मना कर दिया था.

प्रदेश के सियासी संकट के फिलहाल खत्म होने के आसार नहीं लग रहे हैं. इसी बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार देर शाम राज्यपाल कलराज मिश्र से मुलाकात की. इस दौरान दोनों ने करीब 20 मिनट तक चर्चा की. माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की तैयारी कर रहे हैं.