Rajasthan Crisis: स्पीकर सीपी जोशी ने सुप्रीम कोर्ट से वापस ली याचिका, कोर्ट की बजाए अब राजनीतिक लड़ाई लड़ेगी कांग्रेस

27
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. राजस्थान (Rajasthan) में चल रहे सियासी घमासान के बीच बागी विधायकों के मामले में विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी (Cp Joshi) की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी थी, लेकिन इससे पहले ही स्पीकर ने याचिका वापस ले ली है. दूसरी ओर राजस्थान हाईकोर्ट में बीजेपी के विधायक की याचिका पर सुनवाई होनी है.

राजस्थान स्पीकर के वकील कपिल सिब्बल (Kapil Sibbel) ने सुप्रीम कोर्ट से याचिका वापस लेने का अनुरोध किया. सिब्बल ने कहा कि मसले पर सुनवाई की जरूरत नहीं है. विचार करके हम दोबारा अदालत आएंगे. इसके बाद अदालत ने उन्हें याचिका वापस लेने की इजाजत दे दी.

कांग्रेस (congress) की ओर से लड़ाई को अब अदालत की बजाय राजनीतिक रूप से लड़ने पर विचार किया जा रहा है. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट में कपिल सिब्बल ने कहा कि वो शुक्रवार को आए हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती दे सकते हैं.

राजस्थान हाई कोर्ट ने पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot)और 18 अन्य कांग्रेसी विधायकों को जारी अयोग्यता के नोटिसों पर अपना फैसला टालने के लिए कहा था.

वहीं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और राज्यपाल कलराज मिश्र के बीच तनाव बढ़ गया है. रविवार को मुख्यमंत्री ने राज्यपाल को विधानसभा का सत्र बुलाने से संबंधित एक नया प्रस्ताव भेजा था. इसकी फाइल सोमवार को राजभवन ने लौटा दी है. ऐसा दूसरी बार है जब राज्यपाल ने सत्र बुलाने की मांग को ठुकराया है.

राज्य की इस सियासी जंग में बहुजन समाज पार्टी की धमाकेदार एंट्री हुई है. बीएसपी ने अपने उन 6 विधायकों के नाम व्हिप जारी किया है, जो कांग्रेस का दामन थाम चुके हैं. दावा किया है कि वोटिंग में कांग्रेस के खिलाफ वोट करें, अन्यथा उन्हें अयोग्य साबित किया जा सकता है.

इस बीच सचिन पायलट की बगावत के कारण राज्य में सियासी संकट में फंसी कांग्रेस आज सभी राज्यों में राजभवन के बाहर प्रदर्शन करने जा रही थी लेकिन अब कांग्रेस कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन नहीं करेंगे.