पुलिस हिरासत में राहुल और प्रियंका, कांग्रेस ने लगाया धक्का-मुक्की का आरोप

1
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. यूपी के हाथरस पीड़िता की मौत मामले पर राजनीति शुरू हो गई है. कांग्रेस का आक्रोश सड़कों पर देखने को मिल रहा है. वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और राहुल गांधी हाथरस जाने के लिए दिल्ली से रवाना हुए. उनके साथ हजारों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता भी थे.

हालांकि उन्हें यमुना एक्सप्रेसवे पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने रोक दिया. यमुना एक्सप्रेसवे पर जब पुलिस ने उन्हें रोका तो दोनों अपनी गाड़ियों से उतरकर पैदल ही हाथरस के लिए निकल पड़े. हालांकि थोड़ी दूरी पर राहुल की पुलिस के साथ धक्का-मुक्की हो गई.

राहुल और प्रियंका गांधी को उत्तर प्रदेश पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. इस पर राहुल ने पुलिस से पूछा कि बता दीजिए कौन सा कानून तोड़ा है. हम पैदल जाना चाहते हैं. मुझे किस धारा के तहत हिरासत में लिया गया है.

मीडिया से बातचीत में राहुल ने कहा कि अभी-अभी पुलिस ने मुझे धक्का दिया, लाठी मारी और मुझे जमीन पर फेंक दिया. उन्होंने कहा कि मैं पूछना चाहता हूं कि क्या इस देश में सिर्फ मोदी जी को पैदल चलने का अधिकार है.. हमारे जैसे आम लोग पैदल नहीं चल सकते. हमारी गाडियां रोकी गई इसलिए हम पैदल चल रहे हैं.

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी को लाठियां मारी गई हैं. वहीं, पुलिस का कहना है राहुल और प्रियंका को समझाया जा रहा है. पुलिस ने कहा कि उन्हें हाथरस नहीं जाने को समझाया जा रहा है.

गौरतलब है कि गत 14 सितंबर को हाथरस जिले के चंदपा थाना क्षेत्र स्थित एक गांव की रहने वाली 19 साल की दलित लड़की से कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किया गया था. लड़की को रीढ़ की हड्डी में चोट और जीभ काट दी गई. उसे पहले अलीगढ़ के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था. उसके बाद उसे दिल्ली स्थित सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया था, जहां मंगलवार तड़के उसकी मौत हो गई थी.

इस घटना को लेकर देश भर में जगह-जगह प्रदर्शन किए जा रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को फोन करके इस मामले में कड़ी कार्रवाई करने को कहा था. राज्य सरकार ने इस मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी है.