राफेल पर ‘सुप्रीम’ फैसले के बाद राहुल बोले- फैसले ने राफेल में जांच के द्वार खोले

सुप्रीम कोर्ट ने राफेल मुद्दे पर फैसला सुना दिया है. कोर्ट ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि इस डील की और जांच कराने की कोई जरूरत नहीं है. इसके बाद भी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को अभी भी इसमें कमी नजर आ रही है.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने राफेल मुद्दे पर सुनवाई करने वाली बेंच के न्यायमूर्ति केएम जोसेफ ने पूरे मामले में जांच का एक नया रास्ता खोल दिया है. उन्होंने मांग की है कि राफेल मुद्दे पर अब एक जांच पूरी गंभीरता से होनी चाहिए.

राहुल गांधी ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा कि न्यायमूर्ति जोसेफ ने पूरे मामले में जांच का एक बड़ा दरवाजा खोल दिया है. अब मामले पर एक जांच पूरी गंभीरता से शुरू होनी चाहिए. एक संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) को भी इस घोटाले की जांच के लिए तैयार किया जाना चाहिए.

उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को अपने पुराने फैसले को दोहराते हुए कहा कि राफेल युद्धक विमान खरीद मामले में प्राथमिकी दर्ज किए जाने और सीबीआई जांच कराए जाने की कोई आवश्यकता नहीं है. 

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एसके कौल और केएम जोसेफ की पीठ ने माना कि पुनर्विचार याचिका में कोई दम नहीं है. हालांकि मामले में न्यायमूर्ति जोसेफ ने फैसले पर सहमति जताते हुए कहा कि कुछ विषयों पर उनके अपने मत हैं.

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने राफेल युद्धक विमान खरीद मामले में पत्रकार वार्ता में कहा कि राफेल पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला सरकार के लिए ‘क्लीन चिट’ नहीं है. उन्होंने कहा कि बीजेपी जनता को यह बताकर गुमराह कर रही है कि वो सभी अपराधों से मुक्त हो गई है. 

सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट रूप से कहा है कि घोटाले की जांच करने के लिए एजेंसियों पर कोई प्रतिबंध नहीं है. सुप्रीम कोर्ट ने आज एक रास्ता और खोल दिया. उन्होंने कहा कि 14 दिसम्बर,2018 और आज का उनका निर्णय किसी स्वतंत्र जांच या सीबीआई व पुलिस की तफ़्तीश में कोई अड़चन नहीं है.

हिन्दुस्थान समाचार/अनूप

Leave a Reply