राहुल गांधी ने अब चीन के साथ डोभाल की बातचीत पर उठाए सवाल

Rahul Gandhi
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार फिर से चीन मुद्दे पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. राहुल ने इस बार राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल की चीनी विदेश मंत्री के साथ हुई बातचीत को लेकर सवाल उठाए हैं.

राहुल ने कहा कि दोनों देशों के बीच बातचीत में भारत की ओर से यथास्थिति को कायम रखने पर जोर क्यों नहीं दिया गया? राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि जब दोनों के बीच बातचीत हुई तो यथास्थिति को कायम करने को लेकर भारत ने जोर क्यों नहीं दिया.

इस दौरान राहुल ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और चीनी स्टेट काउंसिलर वांग यी की बातचीत को लेकर दोनों पक्षों की ओर से जारी किए गए बयान को भी शेयर किया है. उन्होंने लिखा कि ‘राष्ट्रहित सर्वोपरि’ है और भारत सरकार का कर्तव्य है कि वो इसकी रक्षा करे.

अपने इस ट्वीट में राहुल ने तीन सवाल भी किए कि यथास्थिति को लेकर दबाव क्यों नहीं डाला गया है? चीन हमारे भूभाग में 20 निहत्थे जवानों की हत्या को सही कैसे ठहरा पा रहा है? और गलवान घाटी में हमारी क्षेत्रीय संप्रुभता का जिक्र क्यों नहीं है? उन्होंने कहा कि सरकार को इन सवालों के जवाब जनता के समक्ष रखने होंगे.

बता दें कि विदेश मंत्रालय की ओर से जानकारी दी गई थी कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल की चीनी स्टेट काउंसिलर वांग यी से इलाके में शांति कायम करने को लेकर बातचीत हुई थी. इस बीच खबर आई कि चीन ने अपने सैनिकों को गलवान नदी घाटी में कम से कम एक किलोमीटर पीछे किया है.

चीनी सेना के 15 जून को एलएसी पर झड़प वाली जगह से पेट्रोल पॉइंट 14  से 1.5 से  2 किलोमीटर पीछे हटने की भी खबर है. वहीं भारतीय जवान भी पीछे आ गए हैं और दोनों पक्षों के सैनिकों के बीच एक बफर ज़ोन बना दिया गया है.

हिन्दुस्थान समाचार/आकाश