जलियांवाला बाग हत्याकांड की 100वीं बरसी आज, राहुल गांधी ने दी शहीदों को श्रद्धांजलि

नई दिल्ली. अमृतसर के जलियांवाला बाग के नरसंहार कांड के आज 100 साल पूरे हो रहे हैं. इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जलियांबाला बाग के नेशनल मेमोरियल में शहीदों को श्रद्धांजलि दी. राहुल के साथ पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह भी मौजूद थे.

पंजाब के सीएम ने किया किया राहुल गांधी का स्वागत- राहुल गांधी के अमृतसर पहुंचने पर पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उनका स्वागत किया और उनके साथ स्वर्ण मंदिर भी गए. राहुल गांधी के इस दौरे काफी गोपनीय रखा गया था. 13 अप्रैल, 1919 को ब्रिटिश सेना द्वारा नरसंहार किया गया था, जिसमें सैकड़ों लोग मारे गए थे.

राहुल गांधी ने स्मारक की विजिटर बुक में लिखा कि आजादी की कीमत को कभी नहीं भूलना चाहिए. हम भारत के लोगों को सलाम करते हैं, जिन्होंने इसके लिए सब कुछ दिया. जय हिंद.
जलियांवाला बाग नरसंहार, वही नरसंहार है जिसमें ब्रिटिश शासन में जनरल डायर ने निहत्थी भीड़ पर गोलियां चलाने का आदेश दिया था.

ब्रिटिश सरकार ने औपचारिक तौर पर मांगी माफी- हाल ही में इस घटना को लेकर ब्रिटिश सरकार ने औपचारिक तौर पर माफी मांगी थी. नरसंहार के 100 साल पूरे होने पर ब्रिटिश उच्चायुक्त सर डोमिनिक एसक्विथ अमृतसर में स्थित जलियांवाला बाग के शहीद समारक पहुंचे और वहां जाकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी.

इस कार्यक्रम में उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू और पंजाब के राज्यपाल शहीदों को श्रदांजलि देंगे. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शनिवार सुबह अमृतसर पहुंचे और शहीदों को श्रद्धांजलि दी. सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह भी उनके साथ रहे.

शताब्दी समारोह का हो रहा है आयोजन- आज जलियांवाला बाग के शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए शताब्दी समारोह का आयोजन किया जा रहा है. इस मौके पर शहीदों की याद में सिक्का और डाक टिकट भी जारी किया जाएगा.

कैंडल मार्च निकालकर दी गई श्रद्धांजलि- इससे पहले शुक्रवार शाम राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कैंडल मार्च निकालकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी. कैंडल मार्च में कैबिनेट मंत्री सुखबिंदर सिंह सुखसरकरिया, ओम प्रकाश सोनी, सुनील जाखड़, आशा कुमारी, गुरजीत औजला, सुनील दत्ती, इंदरबीर बुलारिया, राजकुमार वेरका के अलावा स्टूडेंट्स ने भी हिस्सा लिया.

इससे पहले शुक्रवार शाम को राहुल गांधी ने पीेम मोदी पर उनके ‘मन की बात’ कार्यक्रम को लेकर तीखा हमला बोला है. शुक्रवार को तमिलनाडु के थेनी कस्बे में प्रचार के दौरान राहुल ने कहा कि कांग्रेस का चुनावी घोषणापत्र किसी अहंकारी व्यक्ति के मन की बात नहीं है बल्कि देश के काम की बात है.

%d bloggers like this: