एकदिवसीय क्रिकेट में वापसी करना चाहते हैं रहाणे

भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने कहा है कि वह एकदिवसीय क्रिकेट में वापसी करना चाहते हैं और किसी भी स्थिति में बल्लेबाजी करने के लिए तैयार हैं.

रहाणे ने आखिरी बार वर्ष 2018 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत के लिए एकदिवसीय मैच खेला था. इसके बाद, उन्होंने टीम में अपना स्थान खो दिया था.

रहाणे ने एक खेल वेबसाइट द्वारा आयोजित एक वीडियो चैट में दीप दास गुप्ता के साथ बातचीत में कहा, “मैंने हमेशा अपनी बल्लेबाजी का लुत्फ उठाया है, लेकिन अगर मुझे मौका मिलता है तो मैं चौथे नंबर पर खेलने से गुरेज नहीं करता. मैंने दोनों भूमिकाओं में अच्छा प्रदर्शन किया है.”

उन्होंने कहा, “मैं एकदिवसीय क्रिकेट में किसी भी स्थान पर बल्लेबाजी करने के लिए तैयार हूं, चाहे वह बल्लेबाजी की शुरुआत करना हो या चौथे नंबर पर खेलना रहा हो. मैं एकदिवसीय क्रिकेट में वापसी करना चाहता हूं, मुझे नहीं पता कि मौका कब आएगा, लेकिन मैं खुद को सभी प्रारूपों में खेलने के लिए तैयार कर रहा हूं.”

रहाणे ने अब तक भारत के लिए 90 एकदिवसीय मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 35.26 की औसत से 2,962 रन बनाए हैं.

उन्होंने टी-20 क्रिकेट में अपने बल्लेबाजी के दृष्टिकोण को भी समझाया और उन्होंने इस बात पर सहमति जताई कि वह बड़े हिटिंग के बजाय बल्लेबाजी की पारंपरिक शैली पर निर्भर हैं.

उन्होंने कहा, “मैं टी 20 क्रिकेट में किसी को कॉपी करने की कोशिश नहीं करता. मैं जो शॉट खेलता हूं, वह गेंदबाज के पीछे होता है और कुछ अन्य शॉट भी होते हैं, जो मैंने विकसित किए हैं. मुझे लगता है कि अगर आप अपने शॉट्स के बारे में निश्चित हैं, तो आपको वापस आना चाहिए.”

उन्होंने कहा, “मैं हमेशा अपने स्ट्राइक रेट को 150-160 के आसपास रखने की योजना बनाता हूं, अगर मैं छह ओवर के अंदर 18 गेंदें खेल रहा हूं. उन छह ओवरों के बाद, टी 20 क्रिकेट में अपनी पारी को आगे बढ़ाना महत्वपूर्ण है.”

रहाणे को आखिरी बार इस साल फरवरी में न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत की दो मैचों की टेस्ट श्रृंखला के दौरान खेलते हुए देखा गया था.

हिन्दुस्थान समाचार/सुनील

Leave a Reply

%d bloggers like this: