पंजाब एंड सिंध बैंक को चौथी तिमाही में हुआ 236 करोड़ रुपये का घाटा

Bank_Counter_380
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्‍ली, 30 जून (हि.स.). सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक, पंजाब एंड सिंध बैंक को वित्‍त वर्ष 2019-20 की चौथी तिमाही में शुद्ध घाटा बढ़कर 236.30 करोड़ रुपये हो गया है. बैंक ने कहा कि फंसे कर्ज के लिए प्रावधान बढ़ने की वजह से बैंक का घाटा बढ़ा है. हालांकि, बैंक को एक साल पहले इसी अवधि में 58.57 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था.

बैंक ने मंगलवार को नियामकीय सूचना में ये जानकारी दी है. बैंक ने बताया कि चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च 2020) की अवधि में बैंक की कुल आय घटकर 2,289.43 करोड़ रुपये रह गई, जबकि एक साल पहले इसी अवधि में ये  2,304.37 करोड़ रुपये रही थी. हालांकि, आलोच्य तिमाही के दौरान बैंक ने 429.75 करोड़ रुपये का परिचालन मुनाफा हासिल किया, जबकि एक साल पहले इसी अवधि में बैंक ने 404.13 करोड़ रुपये का परिचालन मुनाफा कमाया था.

पंजाब एंड सिंध बैंक की जारी बयान में कहा गया है कि संपत्ति गुणवत्ता के मोर्चे पर मार्च 2020 की समाप्ति पर बैंक की सकल गैर-निष्पादित परिसंपत्तियां (एनपीए) बढ़कर बैंक के कुल कर्ज का 14.18 फीसदी तक पहुंच गई जो कि एक साल पहले इसी अवधि में 11.83 फीसदी पर थीं. वहीं, बैंक का शुद्ध एनपीए भी एक साल पहले के 7.22 फीसदी से बढ़कर 8.03 फीसदी पर पहुंच गया है.

हिन्‍दुस्‍थान समाचार/प्रजेश शंकर