PUBG और Zoom एप को बैन नहीं करने की ये है वजह

pubg
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. जब से सरकार ने 59 पॉप्युलर चाइनीज ऐप्स को बैन किया है, तब से ही लोगों के मन में एक सवाल आ रहा है कि आखिर PubG Mobile और Zoom को बैन क्यों नहीं किया गया है. लोग समझ नहीं पा रहे हैं कि जब चीन के लगभग हर पॉप्युलर ऐप्स को बैन किया गया है, तो इसे क्यों छोड़ दिया गया. तो चलिए जानते हैं इस सावल के जवाब के बारे में..

पबजी यानी प्लेयर अननोन बैटलग्राउंड्स भारत के लोकप्रिय गेम में से एक है. ज्यादातर लोगों को ऐसा लगता है कि ये चीनी गेम हैं. जबकि ये पूरी तरीके से सच नहीं है.

इस गेम को दक्षिण कोरिया की टेक कंपनी ब्लूहोल ने वर्ष 2000 में आई जापानी फिल्म बैटल रॉयल से प्रेरित होकर बनाया है. जिसके कुछ दिनों बाद चीन की सबसे बड़ी गेमिंग कंपनी टेंसेंट गेम्स ने इसमें हिस्सा खरीद लिया. जिसके बाद वो इसके मोबाइल वर्जन को बाजारों में लेकर आई. इस तरह देखा जाए तो पबजी गेम की मालिकी मिक्स है और इसे पूरी तरह से चीनी एप नहीं कहा जा सकता है.

अब बात अगर जूम एप की जाये तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जूम चीनी नहीं बल्कि अमेरिकन एप है. इस एप के संस्थापक Eric Yuan हैं, जिनका जन्म चीन में हुआ था. हालांकि, वह मूल रूप से अमेरिकन नागरिक हैं. यही वजह है कि जूम एप पर बैन नहीं लगाया गया है. इसलिए इसे भी चीनी एप कहना गलत होगा.