प्रियंका गांधी ने कश्मीरी लोगों को दी पारसी नववर्ष की शुभकामनाएं

नई दिल्ली, 25 मार्च (हि.स.). कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को कश्मीरी पंडितों को नवरेह (नए साल) की शुभकामनाएं देते हुए ट्वीट किया. हालांकि अपने इस बधाई संदेश में उन्होंने एक गलती भी कर दी.

उन्होंने नवरेह की जगह नवरोज शब्द का प्रयोग किया, जिस पर प्रसिद्ध फिल्म निर्माता अशोक पंडित ने टिप्पणी करते हुए कहा कि कश्मीरियों के लिए नया साल नवरेह होता है.

अशोक पंडित ने प्रियंका गांधी के बधाई संदेश वाले ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘प्रियंका जी, आपकी मां ने आपको गलत कहा है. हमारे इस नए साल को नवरेह कहते हैं नवरोज नहीं. दूसरा हम आज के दिन मीठा चावल नहीं बनाते.’ इतना ही नहीं उन्होंने प्रियंका को नवरेह की जानकारी के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का ट्वीट पढ़ने की सलाह भी दी.

इससे पहले, प्रियंका गांधी ने कश्मीरी लोगों को बधाई देते हुए बुधवार को ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा, ‘कल ही मां का फोन आ गया था कि नवरोज की थाली मत भूलना और मीठे चावल भी बना देना. मेरे सभी कश्मीरी भाइयों और बहनों को बहुत-बहुत शुभकामनाएं. देश और दुनिया बहुत कठिन दौर से गुजर रही है. मेरी प्रार्थना है कि सब स्वस्थ और सुरक्षित रहें. मुस्कुराते रहिए, हर सवेरा एक नया सवेरा है.’

उल्लेखनीय है कि चैत नवरात्र के पहले दिन से हिंदू नववर्ष शुरू होता है. इसे कश्मीरी लोग ‘नवरेह’ के नाम से मनाते हैं. जबकि नवरोज पारसियों का नववर्ष होता है, जो इस साल 20 मार्च को मनाया गया था.

हिन्दुस्थान समाचार/आकाश

Leave a Reply

%d bloggers like this: