सरकारी बंगले को लेकर प्रियंका गांधी-हरदीप पुरी आमने-सामने

प्रियंका गांधी के सरकारी बंगले को लेकर विवाद गहराता जा रहा है. कांग्रेस महासचिव ने सीधे शब्दों में उस मीडिया रिपोर्ट को ‘फेक’ बताया है जिसमें बंगला खाली करने के लिए अतिरिक्त समय की मांग की गई है. उन्होंने कहा है कि सरकारी निर्देश के अनुसार तय समय पर, यानी एक अगस्त तक बंगला खाली हो जाएगा.

प्रियंका के स्पष्टीकरण पर केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा है कि उन्‍हें प्रियंका की पैरवी के लिए एक बड़े कांग्रेसी नेता का फोन आया था. मीडिया में चल रही खबरें ‘फेक’ नहीं हैं.  हरदीप पुरी ने यह कहते हुए प्रियंका पर तंज कसा कि फैक्ट खुद बोलते हैं.

उन्होंने कहा कि मुझसे रिक्‍वेस्‍ट की गई कि बंगले को किसी कांग्रेसी सांसद को अलॉट किया जाए, ताकि प्रियंका उसमें रह सकें. इस दौरान पुरी ने प्रियंका पर तंज कसते हुए कहा कि हर चीज को सेंशनलाइज मत कीजिए. पुरी के इस बयान पर कांग्रेस ने पलटवार किया.

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा है कि “हरदीप पुरी जी, प्रियंका जी लोगों के मुद्दे के लिए लड़ती हैं. उन्हें आपसे कोई एहसान नहीं चाहिए. इसलिए अनुचित तरीके से डींग मारना बंद कीजिये. मुद्दा समाप्त हो चुका है. वैसे भी सबको पता है कि आपने बंगले को किसे अलॉट किया है, तो प्लीज अपने झूठ को सनसनीखेज बनाना बन्द करें. 

दरअसल एक मीडिया रिपोर्ट्स में छपा कि प्रियंका ने सरकारी बंगले में कुछ समय तक और रहने की इजाजत मांगी है. रिपोर्ट में कहा गया था कि प्रधानमंत्री मोदी इसके लिए तैयार भी हैं. इस रिपोर्ट को प्रियंका ने ‘फेक न्‍यूज’ करार दिया है. उन्‍होंने कहा कि उनकी तरफ से ऐसी कोई रिक्‍वेस्‍ट सरकार से नहीं की गई.

बता दें कि गृह मंत्रालय द्वारा प्रियंका गांधी की एसपीजी (SPG) सुरक्षा और जेड प्लस सुरक्षा कवर को वापस लेने के बाद, अब उन्हें सरकारी आवास के आवंटन का प्रावधान नहीं है. इसलिए केंद्र सरकार द्वारा एक अगस्त तक प्रियंका को बंगला खाली करने को कहा गया है.

हिन्दुस्थान समाचार/आकाश

Leave a Reply

%d bloggers like this: