Ayodhya Terror Attack 2005: चार दोषियों को उम्रक़ैद, 1 आरोपी बरी..
  • 5 जुलाई 2005 को हुए आतंकी हमले में 2 लोगों की मौत हो गई थी
  • हमले से पहले आतंकियों ने राम मंदिर (Ram Mandir )के दर्शन भी किए थे

नई दिल्ली. साल 2005 में यूपी के अयोध्या (Ayodhya) में हुए आतंकी हमले के मामले में प्रयागराज की स्पेशल कोर्ट (special Court) ने चार दोषियों को उम्रकैद की सजा सुनाई है. वहीं, कोर्ट ने एक सबूतों के अभाव में एक आरोपी को बरी कर दिया है.

5 जुलाई 2005 को हुए आतंकी हमले में 2 लोगों की मौत हो गई थी. इस मामले की सुनवाई स्पेशल कोर्ट के जज SC/ST दिनेश चंद्र ने की है. ये फैसला प्रयागराज की नैनी सेंट्रल जेल में सुनाया गया है. मामले में 5 आरोपी पिछले काफी समय से नैनी सेंट्रल जेल में ही बंद हैं.

सरकारी वकील गुलाब चंद्र अग्रहरि ने संवाददाताओं को बताया कि डॉक्टर इरफान, शकील अहमद, आसिफ इकबाल और मोहम्मद नसीम को मंगलवार को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई. सभी पर 2.4 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया. वहीं, एक अन्य आरोपी मोहम्मद अजीज़ को बरी कर दिया गया.

अग्रहरि ने बताया कि पांच जुलाई, 2005 को अयोध्या में हुए आतंकी हमले में नसीम ने पाकिस्तानी आतंकवादी कारी के कहने पर मोबाइल का सिम लिया था और अजीज ने सिम लेने के लिए दस्तावेजों का सत्यापन किया था.

जिस वाहन (संख्या जेके 12-0267) से हमले के लिए हथियार लाए गए मोहम्मद शकील उसका मालिक था. इसके लिए 2,20,000 रुपये में कारी ने सौदा तय कराया था. शकील को ये रकम दे दी गई थी, लेकिन उसे यह कहा गया था कि गाड़ी आपके नाम पर ही रहेगी.

इसी वाहन से 5 जून, 2005 को हथियार अलीगढ़ लाए गए थे. अलीगढ़ में हथियार रखने के बाद 7 जून, 2005 को वाहन जम्मू भेजा गया था.

हमले से पहले आतंकियों ने राम मंदिर (Ram Mandir )के दर्शन भी किए थे. गाड़ी में ही सवार होकर आतंकी रामजन्मभूमि परिसर में आए और सुरक्षा घेरा तोड़ते हुए घुस गए, वहां पर ग्रेनेड फेंक हमला किया. 

आतंकी हमले में आसिफ इकबाल की भूमिका के बारे में उन्होंने बताया कि वो मुख्य आरोपी था. आतंकी कारी ने नसीम द्वारा खरीदा गया सिम आसिफ इकबाल को दिया था.

अग्रहरि ने बताया कि अयोध्या आतंकी हमले में सीआरपीएफ के साथ मुठभेड़ में मारे गए आतंकियों में से एक की पहचान अरशद के रूप में हुई है. अभी तक इस मामले में 371 तारीखें लगीं और 63 लोगों की गवाही हुई.

इस हमले में कथित तौर पर जैश-ए-मोहम्मद के पांच आतंकवादियों और दो स्थानीय लोगों (रमेश पांडा और शांति देवी) सहित 7 लोगों की मौत हो गई थी जबकि सीआरपीएफ (CRPF) के सात जवान घायल हो गए थे.

Trending Tags- Ayodhya Terror Attack | Jaish-e-Mohammed | Terror News | Aaj ka Samachar | News Today

1 thought on “Ayodhya Terror Attack 2005: चार दोषियों को उम्रक़ैद, 1 आरोपी बरी..”

Leave a Comment

%d bloggers like this: