”राममंदिर” बनाने के लिए सीने पर खाऊंगा गोलियां ?

अयोध्या. अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के अध्यक्ष डॉ प्रवीण भाई तोगड़िया ने कहा है कि हमें फिर से गोलियां खानी पड़ीं तो खाएंगे पर अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण होकर रहेगा. सरकार को जब राम मंदिर के लिए कोर्ट के फैसले का ही इंतजार करना था तो कोठारी बंधुओं एवं अयोध्या के अन्य कारसेवकों का बलिदान क्यों हुआ. 2014 से पूर्ण बहुमत की सरकार है. केन्द्र सरकार से उन्होंने सवाल पूछा कि फिर राम मंदिर निर्माण में समस्या क्या है?

मंगलवार सुबह रामकोट की परिक्रमा करने से पूर्व तोगड़िया ने हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत करते हुए कहा कि जब जीएसटी और तीन तलाक पर कानून बन सकता है, तो अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए भी संसद में कानून बन सकता है. केंद्र सरकार सोमनाथ की तर्ज पर कानून बनाकर अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कराए.

तोगड़िया ने कहा कि मेरा नारा ”हिंदुओं का साथ-हिंदुओं का विकास” है. हमें राम मंदिर चाहिए. काशी और मथुरा चाहिए. देश में दस करोड़ युवा बेरोजगार हैं और सरकार को बुलेट ट्रेन दिख रही है. हर साल किसान गरीबी से आत्महत्या कर रहे हैं.

सरकार ने जनता से राम मंदिर निर्माण के लिए कानून बनाने का वादा किया था. मगर इसे दरकिनार करते हुए तीन तलाक पर कानून बनाने लगी. उन्होंने कहा कि केरल, जम्मू, राजस्थान, मध्यप्रदेश आदि से हमारे रामसेवक साथी आए हैं और वे वहां भाजपा को हराने का संदेश लेकर आज के बाद गांव-गांव जाएंगे.

तोगड़िया ने राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण की मांग के साथ यह एलान भी किया कि मंगलवार को वे अगले प्रधानमंत्री के नाम का भी एलान करेंगे, जो सत्ता में आकर तुरंत मंदिर का निर्माण कराने वाला, युवाओं को रोजगार देने वाला, किसानों को कर्ज मुक्त करने वाला, पाकिस्तान को घुटनों के बल लाने वाला और सस्ती शिक्षा-सस्ता पेट्रोल देने वाला होगा.

प्रधानमंत्री के रूप में तोगड़िया किसका नाम सुझाएंगे. अटकल तो यहां तक लगाई जा रही है कि वे स्वयं को ही भावी प्रधानमंत्री के रूप में पेश करेंगे, इस पर भी अटकल लगायी जा रही है. प्रधानमंत्री कैसा हो-प्रवीण तोगड़िया जैसा हो, रविवार को उनके आगमन तथा सोमवार को संकल्प सभा में समर्थकों ने नारा भी लगाया गया था.

अयोध्या में प्रवेश करने वाले सभी रास्तों पर पुलिस तैनात है. किसी भी समय उपद्रव की स्थिति पर नियंत्रण के लिए अ‌र्द्धसैनिक बलों के साथ कई जिलों की फोर्स रविवार से ही लगी हुई है. अधिगृहीत परिसर सहित प्रमुख मंदिरों के आसपास सरयू स्नान घाट एवं परमहंस समाधि स्थल पर विषेश निगरानी कर तोगड़िया के समर्थकों को शान्तिपूर्वक कार्यक्रम करने दिया जा रहा है.

पवन/प्रभात

%d bloggers like this: