17वीं लोकसभा सत्र का पहला दिन, प्रताप चंद्र सारंगी ने ली संस्कृत में शपथ

नई दिल्ली. आज से 17वीं लोकसभा का सत्र शुरू हो गया है. इस सत्र में तीन तलाक समेत कई अहम बिलों और 5 जुलाई को पेश होने जा रहे आम बजट पर भी निगाहें होंगी. ये सत्र 26 जुलाई तक चलेगा.

आज लोकसभा सत्र शुरू होने से पहले सांसद वीरेंद्र कुमार ने सोमवार सुबह प्रोटेम स्पीकर के तौर पर शपथ ली. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें शपथ दिलाई. वीरेंद्र कुमार ही अब सभी नए लोकसभा सांसदों को शपथ दिला रहे हैं.

सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा सांसद के पद के रुप में शपथ ली. उन्हें प्रोटेम स्पीकर वीरेंद्र कुमार ने शपथ दिलाई. इसके बाद एक-एक कर सभी सांसद शपथ ले रहे हैं. पीएम मोदी के बाद रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, गृहमंत्री अमित शाह और गडकरी ने सांसद के रूप में शपथ ली.

अगले दिनों में सभी 542 सांसद शपथ लेंगे. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, बठिंडा से सांसद और शिरोमणि अकाली दल से सांसद हरसिमरत कौर बादल ने भी शपथ ली.

ओडिशा की बालासोर लोकसभा सीट से चुनाव जीतकर आए बीजेपी सांसद प्रताप चंद्र सारंगी ने संस्कृत में शपथ ली. सारंगी पहली बार संसद पहुंचे हैं. हालांकि, सारंगी इससे पहले भी लोकसभा चुनाव में अपनी किस्मत आजमा चुके हैं.

2014 में वो इसी सीट से चुनाव लड़े थे लेकिन बीजेडी उम्मीदवार जेना से हार गए थे. वह नीलगिरि विधानसभा सीट से दो बार एमएलए रह चुके हैं. 2004 में उन्होंने बीजेपी के टिकट से चुनाव लड़ा था जबकि 2009 में वह निर्दलीय ही जीते थे.

नई लोकसभा सत्र से पहले पीएम मोदी ने कहा कि नई उमंग और उत्साह के साथ काम करेंगे. लोकसभा के गठन के बाद संसद का पहला सत्र है. जनता ने हमें फिर सेवा का मौका दिया है. जब संसद चली तो देश हित में फैसले हुए. सबका साथ सबका विकास में अद्भभुत विश्वास.

पीएम ने कहा कि लोकतंत्र में विपक्ष का सक्रिय होना जरूरी है. पीएम मोदी ने कहा कि न्यू टीम के बूते न्यू इंडिया बना सकेंगे. तर्क के साथ सरकार की आलोचना से लोकतंत्र मजबूत होता है.

26 जुलाई को समाप्त होने वाले सत्र में 30 बैठकें होंगी. पहले दो दिन लोकसभा के सभी सांसदों को शपथ दिलाई जाएगी. कार्यवाहक लोकसभा अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार शपथ दिलाएंगे. लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव 19 जून को होगा

विपक्ष से मांगा सहयोग
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सत्र के शुरू होने से एक दिन पहले सर्वदलीय बैठक बुलाई थी. इस बैठक में सरकार ने विपक्ष से संसद को सुचारू रूप से सहयोग मांगा. संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने 14 जून को कांग्रेस संसदीय दल की नेता सोनिया गांधी से उनके आवास पर पहुंचकर मुलाकात की थी.

1 thought on “17वीं लोकसभा सत्र का पहला दिन, प्रताप चंद्र सारंगी ने ली संस्कृत में शपथ”

Leave a Reply