कर्नाटक में सियासी संकट जारी
  • सरकार अब विधायकों के मंत्री पद देकर लुभाने की कोशिशों में लगी हुई है
  • विधायकों को लुभाने के लिए कहा जा रहा है कि इनके क्षेत्र को भी विशेष फंड दिया जाएगा, ताकि विधायक क्षेत्र में अच्छे से विकास करवा सकें

कर्नाटक में राजनीतिक घमासान अबतक जारी है. कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस के बागी विधायकों को मनाने की कोशिशें की जा रही हैं. सरकार अब विधायकों के मंत्री पद देकर लुभाने की कोशिशों में लगी हुई है.

विधायकों को लुभाने के लिए कहा जा रहा है कि इनके क्षेत्र को भी विशेष फंड दिया जाएगा, ताकि विधायक क्षेत्र में अच्छे से विकास करवा सकें.

हालां कि कांग्रेस के 10 और जेडीएस के तीनों विधायकों ने सरकार के इस ऑफर को अपनाने से मना कर दिया है. सभी बागी हुए विधायकों ने सरकार के ऑफर को ठुकरा दिया है.

वहीं कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) भी रविवार को बेंगलुरू पहुंच चुके हैं. वो गठबंधन सरकार को बचाने के लिए रास्ता निकालने की कोशिश करेंगे.

वहीं इस्तीफा सौंपने के बाद सभी विधायक मुंबई जा चुके हैं. विधायकों का कहना है कि अब वापस जाने का कोई सवाल नहीं उठता है. उन्होंने मीडिया को बताया कि इस्तीफा स्पीकर को सौंप दिया है. राज्यपाल को भी इसकी सूचना दे दी है.

उन्होंने कहा कि हम सभी साथ हैं. हम अपना इस्तीफा अब वापस नहीं लेंगे. पार्टी में वापस जाने का सवाल नहीं है.

वहीं कर्नाटक में सरकार पर मंडरा रहे खतरे को देखते हुए एचडी कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) सरकार में उच्च शिक्षा मंत्री जीटी देवगौडा़ (GT Devegowda) ने भी इस्तीफे की पेशकश की है. उन्होंने कहा की अगर पार्टी चाहेगी तो वो भी इस्तीफा दे देंगे.

इनके अलावा राज्य के डिप्टी सीएम और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डीके शिवकुमार (D. K. Shivakumar) ने भी कहा की अगर सरकार को बचाने के लिए इस्तीफा देना पड़े तो वो भी इस्तीफा देने के लिए तैयार हैं.

वहीं विधानसभा अध्यक्ष के.आर. रमेश (K. R. Ramesh Kumar) ने भी इस बात की पुष्टि की है कि उन्हें विधायकों के इस्तीफे मिले हैं. उन्होंने मीडिया को कहा कि मुझे मेरे निजी सचिव से जानकारी मिली है कि 11 विधायकों ने मेरे कार्यालय में इस्तीफे दिए हैं. मैं इन इस्तीफों को देखूंगा. वहीं कांग्रेस और जेडीएस दोनों ही पार्टियां अपने विधायकों को मनाने में लगी हुई हैं.

बता दें कि कर्नाटक में 13 महीने पहले जेडीएस-कांग्रेस ने गठबंधन की सरकार बनाई थी. वहीं गठबंधन की इस सरकार को तगड़ा झटका तब लगा जब कांग्रेस के 8 और जेडीएस के 3 विधायकों ने  अचानक अपने इस्तीफे सौंप दिए.

Trending Tags: Jds Congress | Jds Congress Karnataka | Congress |
समाचार

1 thought on “कर्नाटक में सियासी संकट जारी”

Leave a Comment

%d bloggers like this: