Triple Murder case: पुलिस की 15 टीमों ने जब्त की 300 कैमरों की फुटेज

नई दिल्ली. वसंत विहार में बुजुर्ग दम्पत्ति सहित नर्स की हत्या के मामले में पुलिस ने नर्स खुशबू के बॉयफ्रेंड से लगातार 15 घंटे से ज्यादा पूछताछ की. इस दौरान कोई खास जानकारी नहीं मिली है, लेकिन आरोपित पुलिस के सवालों के सही जवाब नहीं दे पा रहा है. ऐसे में पुलिस ने खुशबू और दोनों बुजुर्गो से जुड़े चार अन्य लोगों को दिल्ली-नोएड़ा से हिरासत में लिया है.

पुलिस की हिरासत में बॉयफ्रेंड सहित पांच लोग हैं, जिनसे पूछताछ की जा रही है. पुलिस ने वसंत अपार्टमेंट और उसके करीब 2 किलोमीटर के दायरे में लगे 300 कैमरों की फुटेज भी जब्त की है. अपार्टमेंट के सुरक्षाकर्मी सहित यहां काम करने के लिए आने वाले लोगों की सूची तैयार कर पुलिस ने उनसे भी पूछताछ शुरू कर दी है.


15 घंटे बाद भी नहीं टूटा युवक

पुलिस सूत्रों के अनुसार खुशबू के बॉयफ्रेंड से पुलिस टीम ने लगातार 15 घंटे से ज्यादा पूछताछ की, लेकिन वह अभी तक टूटा नहीं है. आरोपित यह भी नहीं बता पा रहा है कि उसने अपना फोन रात भर क्यों बंद रखा था और रात को वह कहां था. न ही युवक यह बता पा रहा है कि उसने फोन बंद करने से पहले खुशबू से क्या बता की थी. हालांकि पुलिस ने उससे पूछताछ के बाद लक्ष्मी नगर से एक युवक को हिरासत में लिया है. जिससे पूछताछ की जा रही है. पुलिस वारदात के समय सीसीटीवी में दिखाई दे रही संदिग्ध बाइक के बारे में दोनों से पूछताछ कर रही है, लेकिन बाइक के बारे में भी कोई ठोस जानकारी नहीं मिली है.

फोन के इर्द-गिर्द टिकी जांच

पुलिस की अभी तक की जांच में सामने आया है कि वारदात वाले दिन खुशबू के बॉयफ्रेंड ने अपना फोन 8.30 बजे नोएड़ा में बंद किया था. फोन बंद करने से पहले करीब 30 मिनट में 5 बार उसकी खुशबू से बात हुई थी. रात करीब 1.30 बजे दोनों बुजुर्ग शाशि माथुर ओर विष्णु माथुर के फोन उनके घर में ही बंद हुए. दोनों बुजुर्गो के फोन बंद होने के 20 मिनट बाद खुशबू का फोन 1.50 पर बंद हुआ. ऐसे में पुलिस यह मान कर चल रही है कि हत्यारों ने पहले बुजुर्गो की हत्या की और बाद में खुशबू की हत्या की गई है. आरोपित जाते हुए सभी मृतकों के फोन अपने साथ ले गए. हत्या की वारदात के बाद भी खुशबू के बॉयफ्रेंड फोन ऑफ था, जो रविवार सुबह 11 बजे के बाद खुला.

हत्या से पहले आरोपितों ने पी थी चाय

पुलिस को घटनास्थल पर दो खाली कप चाय के मिले हैं. घर में जिस तरह से गेट खोल कर हत्यारे आए थे और उनके लिए रात को चाय बनाई गई. इससे साफ है कि हत्या से पहले चाय पीने वाले दोनों आरोपित खुशबू या फिर बुजुर्गो के खास जानकार थे. यही वजह है कि देर रात उन्हें घर में एंट्री दी गई और उनके लिए चाय भी बनाई गई.


आरोपितों की तलाश में जुटी 15 टीमें


बुजुर्गों की हत्या होने के चलते पुलिस उपायुक्त देवेन्द्र आर्या खुद पूरे मामले की छानबीन कर रहे हैं. आरोपितों को पकड़ने के लिए स्पेशल स्टाफ, एएटीएस, साइबर सहित 15 टीमें बनाई गई हैं. दो टीमों को इलाके में लगे सीसीटीवी की जब्त की गई फुटेज की जांच का काम सौंपा गया है. जबकि एक टीम बुजुर्ग और नर्स के फोन से मिले संदिग्ध 250 लोग की सीडीआर की जांच कर रही है. दो टीम उत्तराखंड, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में छापेमारी कर रही है. इसके बावजूद हत्या को 24 घंटे से ज्यादा समय बीत जाने के बाद भी पुलिस को हत्या में आरोपियों के बारे में कोई ठोस सुराग नहीं मिला हैं.


हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी शर्मा/बच्चन

1 thought on “Triple Murder case: पुलिस की 15 टीमों ने जब्त की 300 कैमरों की फुटेज”

Leave a Reply