मेरठ ZONE- ताबड़तोड़ एनकाउन्टर्स कर पुलिस ने बनाई हाफ सेन्चुरी

मेरठ

प्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद अपराधियों के खिलाफ पुलिस का ऑपरेशन जारी है. मेरठ जोन के सभी जिलों में यूपी पुलिस ने 51 एनकाउन्टर करके आगरा, लखनऊ, इलाहाबाद, बरेली, गोरखपुर, कानपुर और वाराणसी जोन को पीछे छोड़ दिया. जिले में पुलिस अपराधियों के खिलाफ लगातार अभियान चला रही है.

पुलिस बदमाशों की तरफ से चलाई जा रही गोलियों का जवाब उन्ही के अंदाज में दे रही है. मेरठ जोन के जिलों में 51 बदमाशों की पुलिस मुठभेड़ में मौत हो चुकी है. इसी के साथ मेरठ जोन की पुलिस ने हॉफ सेन्चुरी पूरी कर ली है.

अपराधियों का सफाया करने में मेरठ जोन प्रदेश भर में अव्वल आया है. जोन की पुलिस अब तक 1491 से ज्यादा मुठभेड़ों में 51 बदमाशों को मौत के घाट उतार चुकी है. जबकि 791 से अधिक बदमाश घायल हुए और 2844 से अधिक बदमाशों को गिरफ्तार किया गया.

प्रदेश की बिगड़ी कानून व्यवस्था को संभालने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस को खुली छूट दी थी. इसी का परिणाम है कि प्रदेश भर में बदमाशों के खिलाफ पुलिस का अभियान तेजी से चल रहा है. इसमें मेरठ जोन प्रदेश में अव्वल है.

मेरठ जोन के एडीजी प्रशांत कुमार का कहना है कि यूपी में पुलिस के साथ मुठभेड़ में अब तक दस हजार से ज्यादा बदमाशों को पकड़ा जा चुका है. इन मुठभेड़ों में मेरठ जोन के 316 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए, जबकि एक पुलिसकर्मी शहीद हुआ. एडीजी ने बताया कि आगरा, लखनऊ, इलाहाबाद, बरेली, गोरखपुर, कानपुर और वाराणसी जोन की पुलिस भी अपराधियों पर कहर बनकर टूट रही है.

पुलिस की कार्यशैली पर कांग्रेस और सपा नेताओं ने सवाल उठाए हैं. कांग्रेस के पीसीसी सदस्य हरिकिशन अंबेडकर का आरोप है कि पुलिस बदमाशों को पकड़ कर घायल कर रही है. घायल सभी बदमाशों के पैर में ही गोली लग रही है. इसमें एक विशेष वर्ग के बदमाशों को निशाना बनाया जा रहा है.

मेरठ रेंज में बदमाशों पर कहर बरपा है. मेरठ रेंज के आईजी आलोक सिंह का कहना है कि रेंज में लगातार बदमाशों के साथ मुठभेड़ हुई है. इनमें 51 बदमाशों की गोली लगने से मौत हुई है. बाकी बदमाश गोली लगने से घायल हुए. रामकुमार वर्मा के तबादले के बाद आलोक सिंह को नया आईजी बनाया गया.

मेरठ में प्रह्लाद नगर से हिंदुओं के पलायन और मॉबलिंचिंग के विरोध पर मुस्लिमों के बवाल के बाद अजय साहनी को नया एसएसपी बनाया गया. तभी से वह बदमाशों पर भारी पड़ रहे हैं. इस दौरान दो बदमाशों को मारा जा चुका है और दर्जनों बदमाश घायल हो चुके हैं.

मधुकर वाजपेयी / Madhukar Vajpayee

Leave a Comment

%d bloggers like this: