SCO
SCO Summit 2019

SCO सम्मेलन में पीएम मोदी ने आतंकवाद के मुद्दे पर पड़ोसी पाकिस्तान को घेरने का कोई मौका नहीं छोड़ा. पीएम मोदी ने बैठक के दूसरे दिन आतंकवाद का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि आतंकवाद को समर्थन और आर्धिक देने करने वाले देशों को जिम्मेदार ठहराना जरूरी है.

उन्होंने कहा कि भारत आतंकवाद से निपटने के लिए एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का आह्वान करता है. अफगानिस्तान का विशेष रूप से उल्लेख करते हुए कहा कि इस देश में शांति और स्थिरता बहुत जरुरी है और इस दिशा में एससीओ काम कर रहा है.

पीएम मोदी ने कहा कि आधुनिक समय में कनेक्टविटी बेहद जरूरी है. लोगों का आपस में संपर्क होना भी जरूरी है, जल्द ही भारत की वेबसाइट पर रूस की टूरिज्म की जानकारी भी होगी. इसके अलावा अफगानिस्तान के लोगों के साथ मिलकर हम आगे बढ़ेंगे.

इमरान खान को किया नजरअंदाज

पीएम मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान दोनों पहली बार एक ही मंच पर हैं. इसके बावजूद दोनों नेताओं में कोई बातचीत नहीं हुई. SCO समिट के दौरान हुए फोटो सेशन में भी दोनों नेताओं के बीच दूरी बनीं रही.

इतना ही नहीं कल (गुरुवार) को दोनों की मुलाकात डिनर टेबल पर भी हुई थी, लेकिन इसके बावजूद में दोनों में बातचीत बिल्कुल भी नहीं हुई थी. आतंकवाद पर पीएम मोदी का स्टैंड इतना साफ है कि उन्होंने पाक प्रधानमंत्री इमरान खान से दुआ-सलामी भी नहीं की.

जिनपिंग को भी दिया स्पष्ट जवाब

पाकिस्तान को लेकर हमेशा नरम रुख अपनाने वाले चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से जब पीएम मोदी की मुलाकात हुई, तो पीएम मोदी ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि पाकिस्तान जब तक आतंकवाद पर कोई ठोस कदम नहीं उठाता, उससे बात करना संभव नहीं होगा.

2017 में नवाज शरीफ से की थी मुलाकात

2017 में एससीओ समिट के दौरान पीएम मोदी ने पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ से इसी तरह के एक सांस्कृति कार्यक्रम में मुलाकात की थी. इसके बाद पीएम मोदी नवाज शरीफ से लाहौर में भी मिले थे.

Leave a Reply