BJP कार्यकर्ताओं के बीच पीएम मोदी कहा- कमियां हो सकती हैं पर इरादे नेक हैं

नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत हासिल करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को सुबह वाराणसी पहुंचे. पीएम मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में रूद्राभिषेक किया. चुनाव जीतने के बाद पहली बार प्रधानमंत्री काशी पहुंचे हैं.

काशी में पूजा करने के बाद पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया.

इस मौके पर पीएम मोदी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि चुनाव को लेकर मैं निश्चिंत था. वहीं केदानाथ पर पीएम मोदी ने कहा कि केदार ने मुझे शक्ति दी. काशी की जनता का आभार जताते हुए कहा कि काशी की जनता ने चुनाव को पर्व माना है.

पीएम मोदी ने काशी में कहा कि यहां के कार्यकर्ताओं ने मुझे कहा था कि आप निश्चिंत रहिए और जीत के बाद ही आइए, इसलिए मैं 19 को मतदान के दिन यहां नहीं आया. मुझे लगा कार्यकर्ताओं ने आदेश दिया है शायद एंट्री नहीं मिले इसलिए इस बाबा की जगह मैं केदारनाथ बाबा के पास चला गया.

पीएम ने कहा कि मैं विरोधी उम्मीदवारों का दिल से धन्यवाद देता हूं. काशी के मिजाज को सबने देखा है. कार्यकर्ताओं का संतोष ही हमारा संतोष है. हर कार्यकर्ता नरेंद्र मोदी बना. पीएम ने कहा कि हम लोकतंत्र की परवाह करते हैं. बीजेपी ईमानदारी से लोकतंत्र चलाती है. उन्होंने कहा कि कमियां हममे भी हैं लेकिन इरादे नेक हैं.

उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं ने चुनाव को जीत-हार से नहीं तोला इसके साथ ही पीएम ने कहा कि मैं भी कभी बीजेपी का कार्यकर्ता था. काशी के विश्वरूप ने पूरे देश को प्रभावित किया.काशी ने मुझे स्नेह और शक्ति दी है.

अमित शाह ने कहा कि पीएम मोदी पर काशी की जनता ने भरोसा किया है. उन्होंने कहा कि काशी का सौभाग्य है कि पीएम यहां के जनप्रतिनिधि हैं. अमित शाह ने कहा कि यूपी में जाति की राजनीति खत्म हो गई है. मैं काशी की जनता को प्रणाम करता हूं. पांच साल में काशी बहुत बदल गई. मोदी ने काशी का विकास किया है.

इस मौके पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मोदी है तो मुमकिन है. योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चुनाव से पहले लोग महागठबंधन बनाकर बीजेपी को रोकने में लगे थे, लेकिन बीजेपी ने महाविजय हासिल की. हम पहले ही कह रहे थे मोदी है तो मुमकिन है.

रविवार को गुजरात यात्रा के दौरान पीएम अपनी मां हीराबेन से भी मिलने पहुंचे. इस दौरान उन्होंने मां का आशीर्वाद लिया और कुछ देर उनके साथ बैठकर बातचीत की. इस दौरान उनके कई रिश्तेदार भी उनसे मिलने के लिए पहुंचे थे.

नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत हासिल करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को सुबह वाराणसी पहुंचे. पीएम मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में रूद्राभिषेक किया. चुनाव जीतने के बाद पहली बार प्रधानमंत्री काशी पहुंचे हैं.

काशी में पूजा करने के बाद पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया.

इस मौके पर पीएम मोदी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि चुनाव को लेकर मैं निश्चिंत था. वहीं केदानाथ पर पीएम मोदी ने कहा कि केदार ने मुझे शक्ति दी. काशी की जनता का आभार जताते हुए कहा कि काशी की जनता ने चुनाव को पर्व माना है.

पीएम मोदी ने काशी में कहा कि यहां के कार्यकर्ताओं ने मुझे कहा था कि आप निश्चिंत रहिए और जीत के बाद ही आइए, इसलिए मैं 19 को मतदान के दिन यहां नहीं आया. मुझे लगा कार्यकर्ताओं ने आदेश दिया है शायद एंट्री नहीं मिले इसलिए इस बाबा की जगह मैं केदारनाथ बाबा के पास चला गया.

पीएम ने कहा कि मैं विरोधी उम्मीदवारों का दिल से धन्यवाद देता हूं. काशी के मिजाज को सबने देखा है. कार्यकर्ताओं का संतोष ही हमारा संतोष है. हर कार्यकर्ता नरेंद्र मोदी बना. पीएम ने कहा कि हम लोकतंत्र की परवाह करते हैं. बीजेपी ईमानदारी से लोकतंत्र चलाती है. उन्होंने कहा कि कमियां हममे भी हैं लेकिन इरादे नेक हैं.

उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं ने चुनाव को जीत-हार से नहीं तोला इसके साथ ही पीएम ने कहा कि मैं भी कभी बीजेपी का कार्यकर्ता था. काशी के विश्वरूप ने पूरे देश को प्रभावित किया.काशी ने मुझे स्नेह और शक्ति दी है.

अमित शाह ने कहा कि पीएम मोदी पर काशी की जनता ने भरोसा किया है. उन्होंने कहा कि काशी का सौभाग्य है कि पीएम यहां के जनप्रतिनिधि हैं. अमित शाह ने कहा कि यूपी में जाति की राजनीति खत्म हो गई है. मैं काशी की जनता को प्रणाम करता हूं. पांच साल में काशी बहुत बदल गई. मोदी ने काशी का विकास किया है.

इस मौके पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मोदी है तो मुमकिन है. योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चुनाव से पहले लोग महागठबंधन बनाकर बीजेपी को रोकने में लगे थे, लेकिन बीजेपी ने महाविजय हासिल की. हम पहले ही कह रहे थे मोदी है तो मुमकिन है.

रविवार को गुजरात यात्रा के दौरान पीएम अपनी मां हीराबेन से भी मिलने पहुंचे. इस दौरान उन्होंने मां का आशीर्वाद लिया और कुछ देर उनके साथ बैठकर बातचीत की. इस दौरान उनके कई रिश्तेदार भी उनसे मिलने के लिए पहुंचे थे.

%d bloggers like this: