पीएम मोदी के संबोधन की बड़ी बातें, यहां पढें…

PM Modi
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को संबोधित (PM Modi to Address Nation)किया. ये छठा मौका है जब पीएम मोदी देश को संबोधित किया. देश में जब से कोरोना वायरस का संकट आया है, तब से अब तक प्रधानमंत्री ने कई अहम मौकों पर देश को संबोधित किया है.

पीएम मोदी के संबोधन की बड़ी बातें

  • कोरोना वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ते हुए अब हम Unlock-Two में प्रवेश कर रहे हैं. और हम उस मौसम में भी प्रवेश कर रहे हैं जहां सर्दी-जुखाम, खांसी-बुखार ये सारे न जाने क्या क्या होता है, के मामले बढ़ जाते हैं
  • ये बात सही है कि अगर कोरोना से होने वाली मृत्यु दर को देखें तो दुनिया के अनेक देशों की तुलना में भारत संभली हुई स्थिति में है.
  • समय पर किए गए लॉकडाउन और अन्य फैसलों ने भारत में लाखों लोगों का जीवन बचाया है
  • जब से देश में Unlock-One हुआ है, व्यक्तिगत और सामाजिक व्यवहार में लापरवाही भी बढती ही चली जा रही है .
  • पहले हम मास्क को लेकर, दो गज की दूरी को लेकर, 20 सेकेंड तक दिन में कई बार हाथ धोने को लेकर बहुत सतर्क थे
  • लॉकडाउन के दौरान बहुत गंभीरता से नियमों का पालन किया गया था.
  • अब सरकारों को, स्थानीय निकाय की संस्थाओं को, देश के नागरिकों को, फिर से उसी तरह की सतर्कता दिखाने की जरूरत है.
  • देश की सर्वोच्च प्राथमिकता रही कि ऐसी स्थिति न आए कि किसी गरीब के घर में चूल्हा न जले.
  • केंद्र सरकार हो, राज्य सरकारें हों, सिविल सोसायटी के लोग हों, सभी ने पूरा प्रयास किया कि इतने बड़े देश में हमारा कोई गरीब भाई-बहन भूखा न सोए.
  • देश हो या व्यक्ति, समय पर फैसले लेने से, संवेदनशीलता से फैसले लेने से, किसी भी संकट का मुकाबला करने की शक्ति बढ़ जाती है.
  • इसलिए, लॉकडाउन होते ही सरकार, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना लेकर आई.
  • त्योहारों का ये समय, जरूरतें भी बढ़ाता है, खर्चे भी बढ़ाता है. सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दीवाली और छठ पूजा तक, यानि नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाए.
  • हर परिवार को हर महीने 5 किलो गेहूं या चावल औऱ एक किलो चना दिया जाएगा. इसमें 90 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च होंगे.
  • कोरोना से लड़ते हुए भारत में 80 करोड़ लोगों को तीन महीने का राशन मुफ्त दिया गया है. इसके अतिरिक्त प्रत्येक परिवार को हर महीने एक किलो दाल भी दी गई.
  • बीते तीन महीनों में 20 करोड़ गरीब परिवारों के जनधन खातों में सीधे 31 हजार करोड़ रुपए जमा करवाए गए हैं. इस दौरान 9 करोड़ से अधिक किसानों के बैंक खातों में 18 हजार करोड़ रुपए जमा हुए हैं.
  • जो लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं उन्हें रोकना होगा और समझाना होगा. भारत में भी स्थानीय प्रशासन को चुस्ती से काम करना चाहिए.
  • कन्टेनमेंट जोंस पर हमें खास ध्यान देना होगा.
  • भारत में चाहें गांव का प्रधान हो या देश का प्रधानमंत्री कोई भी नियमों से ऊपर नहीं है.

प्रधानमंत्री मोदी (Prime Minister Modi) के संबोधन के कार्यक्रम की खबर आने से पहले ही गृहमंत्रालय ने अनलॉक 2.0 की गाइडलाइंस (2.0 Guideline) भी जारी की गई थी. इस गाइडलाइंस में कैंटोनमेंट जोन में 31 जुलाई तक लॉकडाउन लागू रहने की बात कही गई है. वहीं इससे बाहर के क्षेत्रों में गतिविधियां चलती रहेंगी.

इससे पहले भारत-चीन तनाव (India-China Clash) के बीच केंद्र सरकार ने 59 चाइनीज ऐप पर रोक लगाने का फैसला लिया है. बैन किए गए ऐप में मशहूर टिक-टॉक ऐप भी शामिल है. इसके अलावा यूसी ब्राउजर, कैम स्कैनर जैसे और भी बहुत फेमस ऐप शामिल हैं.