पीएम मोदी इन 3 शहरों में लॉच करेंगे आधुनिक क्षमताओं वाली टेस्टिंग लैब, ये होगी खासियत

PM MODI
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Modi) सोमवार को नोएडा, कोलकाता और मुंबई स्थित कोरोना जांच की अत्याधुनिक लैब का उद्घाटन शाम 4:30 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए करेंगे. सोमवार को पीएम के साथ इस लॉन्चिंग में स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षबर्धन और महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल (West Bengal) और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे.

आज से शुरू होने वाले सभी जांच लैब बायो सेफ्टी लेवल टू से लैस है जोकि कोरोना जांच के लिए बेहद जरूरी है. नोएडा (Noida) में बनने जा रही जांच लैब उत्तर प्रदेश की सबसे बड़ी कोरोना वायरस जांच लैब होगी. इन लैब्स में प्रतिदिन जांच की क्षमता 6000 तय की गई है.

नोएडा के सेक्टर-39 स्थित राष्ट्रीय कैंसर रोकथाम एवं शोध संस्थान (एनआईसीपीआर) में बनी कोरोना जांच की लैब अति आधुनिक होगी. यहां 12 आरटीपीसीआर (RTPCR) मशीनें लगाई जाएंगी. वहीं, 4 आरएनए एक्सट्रैक्शन मशीनें भी लगेंगी.

वर्तमान में सेक्टर-62 स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोलॉजिकल्स (एनआईबी) में सबसे अधिक 1000 जांच की जा रही है. वहीं जिम्स, शिशु अस्पताल, जेपी, शारदा को मिलाकर ये संख्या प्रतिदिन 2000 से ज्यादा है.

इन लैब की बनावट इस तरह है कि प्रयोगशाला स्टाफ को संक्रमित चीजों के संपर्क में आने की जरूरत नहीं पड़ेगी. इन लैब में कोरोना के अलावा डायबिटीज की भी जांच हो सकेगी. कोरोना वायरस (Corona Virus) महामारी खत्म होने के बाद इन्हीं लैब्स को डेंगू, टीबी , एचआईवी (HIV) और हेपेटाइटिस जैसी बीमारियों के परीक्षम के लिए तैयार कर दिया जाएगा.

इस लैब में किन जगहों से नमूने जांच के लिए आएंगे स्थिति साफ नहीं की गई है, इन तीनों लैब का निर्माण भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने करवाया है. मुंबई में 1200 और कोलकाता में 3000 कोरोना वायरस के नमूनों की जांच होगी.